नए समाचार

‘मज़दूरों के पास संघर्ष के सिवाय बचा नहीं है कोई रास्ता’

साझी विरासत बचाना वक़्त की जरूरत:शमा परवीन हमें वंचितों की आवाज़ बनना होगा:शारदा देवी वाराणसी, बदलते दौर में साझी विरासत तथा...

निर्माण मज़दूरों को ठेके पर नहीं करना चाहिए जोड़इया-पोतइया का काम

हमारा मोर्चा के कार्यकारी संपादक कामता प्रसाद की ओर सेः मज़दूर साथियों को रंगाई-पुताई, टाइल्स लगाने, गड्ढा खोदने, छत ढालने,...

एंगेल्स को याद करते हुए उदारवादी बुद्धिजीवियों के नाम लिखा पत्र

उदारवादी बुद्धिजीवियों के नाम एक पत्र! हम आप तमाम उदारवादियों को यह विश्वास दिलाना चाहते हैं कि पूंजीवादी प्रचार के...

‘सिद्धांत से प्रैक्टिस और प्रैक्टिस से सिद्धांत की पूरी प्रक्रिया लगभग गायब है’

सिर के बल खड़ी दुनिया को पैर के बल खड़ा कर देने वाले महान चिंतकों मार्क्स-एंगेल्स में एक आज...

अपने-अपने प्रेमचंद, बता रहे हैं स्वदेश सिन्हा

अकसर बहुत से साहित्यकार और लेखक प्रेमचंद को अपने- अपने विचारधारा में बांधने की कोशिश करते रहते हैं, और...

पश्चिमी पूँजीवादी देशों को खूब छका रहा है चीन

हमारा ध्यान रूस-यूक्रेन में लगाकर रात के अंधेरे में...

पुआरीकलां का ग्राम प्रधान कर रहा है दबंगई, मज़दूरों को पैसा देने से किया इन्कार

उत्तर प्रदेश निर्माण और असंगठित मज़दूर यूनियन से संबद्ध...

‘मज़दूरों के पास संघर्ष के सिवाय बचा नहीं है कोई रास्ता’

साझी विरासत बचाना वक़्त की जरूरत:शमा परवीन हमें वंचितों की...

निर्माण मज़दूरों को ठेके पर नहीं करना चाहिए जोड़इया-पोतइया का काम

हमारा मोर्चा के कार्यकारी संपादक कामता प्रसाद की ओर...

एंगेल्स को याद करते हुए उदारवादी बुद्धिजीवियों के नाम लिखा पत्र

उदारवादी बुद्धिजीवियों के नाम एक पत्र! हम आप तमाम उदारवादियों...

‘मज़दूरों के पास संघर्ष के सिवाय बचा नहीं है कोई रास्ता’

साझी विरासत बचाना वक़्त की जरूरत:शमा परवीन हमें वंचितों की आवाज़ बनना होगा:शारदा देवी वाराणसी, बदलते...

निर्माण मज़दूरों को ठेके पर नहीं करना चाहिए जोड़इया-पोतइया का काम

हमारा मोर्चा के कार्यकारी संपादक कामता प्रसाद की ओर सेः मज़दूर साथियों को रंगाई-पुताई, टाइल्स...

एंगेल्स को याद करते हुए उदारवादी बुद्धिजीवियों के नाम लिखा पत्र

उदारवादी बुद्धिजीवियों के नाम एक पत्र! हम आप तमाम उदारवादियों को यह विश्वास दिलाना चाहते...

अपने-अपने प्रेमचंद, बता रहे हैं स्वदेश सिन्हा

अकसर बहुत से साहित्यकार और लेखक प्रेमचंद को अपने- अपने विचारधारा में बांधने की...

Stay connected

0FansLike
0SubscribersSubscribe

‘मज़दूरों के पास संघर्ष के सिवाय बचा नहीं है कोई रास्ता’

साझी विरासत बचाना वक़्त की जरूरत:शमा परवीन हमें वंचितों की आवाज़ बनना होगा:शारदा देवी वाराणसी, बदलते...

निर्माण मज़दूरों को ठेके पर नहीं करना चाहिए जोड़इया-पोतइया का काम

हमारा मोर्चा के कार्यकारी संपादक कामता प्रसाद की ओर सेः मज़दूर साथियों को रंगाई-पुताई, टाइल्स...

एंगेल्स को याद करते हुए उदारवादी बुद्धिजीवियों के नाम लिखा पत्र

उदारवादी बुद्धिजीवियों के नाम एक पत्र! हम आप तमाम उदारवादियों को यह विश्वास दिलाना चाहते...

ताज़ा खबर

‘मज़दूरों के पास संघर्ष के सिवाय बचा नहीं है कोई रास्ता’

साझी विरासत बचाना वक़्त की जरूरत:शमा परवीन हमें वंचितों की...

निर्माण मज़दूरों को ठेके पर नहीं करना चाहिए जोड़इया-पोतइया का काम

हमारा मोर्चा के कार्यकारी संपादक कामता प्रसाद की ओर...

एंगेल्स को याद करते हुए उदारवादी बुद्धिजीवियों के नाम लिखा पत्र

उदारवादी बुद्धिजीवियों के नाम एक पत्र! हम आप तमाम उदारवादियों...