ईश्वर शरण गेट सलोरी से तेलियरगंज एमएनएनआईटी तक निकाली गई तैयारी युवा स्वाभिमान पदयात्रा

3
150
आज पदयात्रा में संयोजक डॉक्टर आरपी गौतम, सह संयोजक सुनील मौर्य, शैलेश पासवान, राजीव यादव, जीतेन्द्र धनराज, सोनू यादव, सुमित गौतम , सुनील यादव, विक्टर सुल्तानपुरी, अनिल कुमार, शशि सिद्धार्थ, विवेक, यस, आकाश, अंकित, शनि, राहुल, धीरज, मनीष, प्रदीप ओबामा आदि लोग शामिल हैं। 
युवा स्वाभिमान मोर्चा के बैनर तले युवा स्वाभिमान पदयात्रा 28 सितंबर से 09 अक्टूबर तक इलाहाबाद से लखनऊ की तैयारी में आज  ईश्वर शरण गेट सलोरी से तेलियरगंज एमएनएनआईटी तक तैयारी पदयात्रा निकाली गई।
युवा स्वाभिमान मोर्चा के संयोजक डॉ आरपी गौतम ने कहा कि प्रदेश का नौजवान सड़क पर है और सरकार युवाओं की बात सुनने के बजाय अपनी बात पर भरोसा दिलाना चाहती है. सरकार रोजगार देने के आंकड़े को बढ़ा चढ़ा कर पेश कर रही है. नौजवान बेरोज़गार हैं और सरकार करोड़ों रोज़गार देने का दावा कर रही है. उन्होंने कहा कि सरकार सम्मानजनक रोज़गार देने के बजाय  भीख मांगने, पकोड़ा तलने, पत्तल बनाने को भी रोजगार में गिनती कर आंकड़े को लोकलुभावन तरीके से प्रस्तुत कर रही है, जो सरासर गलत है. उन्होंने भ्रष्टाचार मुक्त परीक्षा होने के दावे को भी गलत बताते हुए कहा की पेपर आउट कराने वाले को सरकार बचाने का ही काम करती दिख रही है.
युवा स्वाभिमान मोर्चा के सह संयोजक सुनील मौर्य ने कहा कि नौजवान सरकार की झूंठी घोषणा से संतुष्ट नहीं हो सकते.  सम्मानजनक रोज़गार की गारंटी सरकार को करनी चाहिए. 28 सितंबर से चंद्रशेखर आजाद पार्क से शुरू पदयात्रा होगी, जो प्रतापगढ़ -रायबरेली होते हुए लखनऊ पहुंचेगी. इस पदयात्रा की तैयारी में गांव से लेकर शहर तक छात्रों -युवाओं से जनसंपर्क कर पर्चे बांटे जा रहे हैं और पोस्टर लगाया जा रहा है. इसी क्रम में कल ईश्वर शरण गेट सलोरी से  गोविंदपुर- शिवकुटी होते हुए तेलियरगंज तक तैयारी पदयात्रा निकालने की योजना बनी है. उन्होंने बेरोजगारी के खिलाफ रोजगार के अधिकार के लिए यात्रा में नौजवानों से शामिल होने की अपील की. आज सुबह डॉ ताराचंद छात्रावास  के छात्रों ने पदयात्रा के समर्थन में जागरूकता अभियान चलाया.
पदयात्रा के माध्यम से उठायी जाएगी मांग : 
  • सम्मान जनक रोजगार को मौलिक अधिकार बनाओ
  • डॉ.अंबेडकर राष्ट्रीय शहरी रोजगार गारंटी कानून (DANUEGA) (डनुएगा) बनाओ.
  • रोज़गार न देने तक *युवा स्वाभिमान भत्ता* प्रतिमाह रु.18000 का कानून बनाओ.
  • 05वर्ष तक संविदा पर नौकरी का प्रस्ताव रद्द करो.
  • रिक्त पड़े सभी पदों को शीघ्र भरो.
  • आयोगों -बोर्डों को भ्रष्टाचार मुक्त, नियमित,पारदर्शी व जवाबदेह  बनाओ.
  • 06माह में नियुक्ति प्रक्रिया पूरी करो.
  • फार्म का दाम मुफ़्त करो, एडमिट कार्ड को यात्रा पास घोषित करो.
  • लैटरल इंट्री पर रोक लगाओ
  • रोज़गार के सभी लंबित मामले को फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट बनाकर यथाशीघ्र निपटारा कराओ.
  • नौकरियों में समुचित आरक्षण दो, बैकलॉग की भर्तियों को तत्काल भरो.
  • ठेका प्रथा समाप्त करो, आशा, आंगनबाड़ी, रसोइया, सफाई कर्मी, रोज़गार मित्र,सहित सभी स्कीम वर्कर्स को स्थायी करो.
  • चतुर्थ श्रेणी की भर्ती पर रोक का प्रस्ताव वापस लो.
  • जनता की सवारी रेल सहित सार्वजनिक क्षेत्र को बेंचना बंद करो.
  • नई शिक्षा नीति वापस लो, शिक्षा को बाजार की वस्तु बनाना बंद करो.
  • मुफ़्त गुणवत्तापूर्ण समान शिक्षा के लिए ‘कॉमन स्कूल सिस्टम’ लागू करो.
  • प्रोफेसनल्स(बीटेक,एमटेक, बीफार्मा, एमफार्मा, बीबीए, एमबीए बीसीए,एमसीए,  होटल मैनेजमेंट, बीएड, बीटीसी आदि) उतने ही तैयार करो जितने की जरूरत(खपत) हो।
  • गुणवत्तापूर्ण सार्वजनिक चिकित्सा की गारंटी करो.
  • काला कानून यूपीएसएसएफ रद्द करो, आंदोलनकारियों पर लादे गए मुकदमें वापस लो.
  • अपराध, बलात्कार, हत्या, दमन पर रोक लगाओ, भय मुक्त समाज बनाओ.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here