महिला सशक्तिकरण व आत्मनिर्भर भारत में महिलाओं के योगदान विषय पर चर्चा

0
2818

स्वावलंबन ट्रस्ट ने सम्मान समारोह के साथ मनाया महिला दिवस

8 मार्च 2021 को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर स्वावलंबन ट्रस्ट एवं जे.सी.बोस विश्वविद्यालय महिला संभाग के संयुक्त तत्वावधान में वाईएमसीए सभागार में सांस्कृतिक कार्यक्रम व सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की मुख्य अतिथि श्रीमती राजश्री सिंह (आई जी, गुरुग्राम) थीं व  विशिष्ट अतिथियों के रूप में फरीदाबाद जिले के अनेक गण्यमान्य व्यक्ति व स्वावलंबन ट्रस्ट के संरक्षक मंडल के सदस्य उपस्थित थे।
दीप प्रज्वलन कर कार्यक्रम के विधिवत आरंभ के पश्चात गणेश वंदना व सरस्वती वंदना ने सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया। स्वागत संबोधन में श्रीमती नीतू गुप्ता ने महिला दिवस पर विस्तृत जानकारी साझा की एवं स्वाववलंबन ट्रस्ट की अध्यक्ष श्रीमती मेघना श्रीवास्तव ने स्वावलंबन ट्रस्ट द्वारा संचालित विभिन्न गतिविधियों की जानकारी दी और महिलाओं की आत्मरक्षा हेतु गठित लक्ष्मीबाई बिग्रेड के बारे में विस्तार से बताया।
श्री गंगा शंकर मिश्र , श्री विनोद श्रीवास्तव, कर्नल समर सिंह,  श्री गोपाल शर्मा  जिला अध्यक्ष, बीजेपी, श्रीमती रजनी गुलाटी संचालिका, हरियाणा प्रांत राष्ट्र सेविका समिति, विशिष्ट अतिथि श्रीमती सुदर्शन रत्नाकर वरिष्ठ साहित्यकार,श्री विकास कुमार (सचिव जिला), श्री रवीन्द्र मोहन जिला समन्वयक (नेहरू युवा केंद्र) अनीता शर्मा वरिष्ठ समाज सेवी संस्था के मार्गदर्शक श्री राजेश मदान , डॉ. शत्रुघन सिंह ,श्री प्रहलाद शर्मा आदि ने महिला सशक्तिकरण व आत्मनिर्भर भारत में महिलाओं के योगदान विषय पर अपने विचार रखे। मुख्य अतिथि श्रीमती राजश्री सिंह ने स्त्री व पुरुषों में सामंजस्य स्थापित कर स्वस्थ समाज के विकास पर जोर दिया और स्वावलंबन ट्रस्ट द्वारा संचालित गतिविधियो की सराहना की। संस्था के वरिष्ठ पदाधिकारियों द्वारा संस्था की आगामी योजनाओं के विषय मे बताया गया।
वाईएमसीए के विद्यार्थियों और स्वावलंबन ट्रस्ट द्वारा प्रस्तुत नाटकों ने स्त्रियों के प्रति व्यवहार को दर्शाते हुए समाज को सकारात्मक संदेश दिया। कार्यक्रम की आभा तब दोगुनी हो गई जब इस सुअवसर पर प्रसिद्ध लेखिका श्रीमती सुदर्शन रत्नाकर जी के महिला केंद्रित काव्य संग्रह “उठो आसमान छू लें! ” एवं श्रीमती भावना सक्सेना जी द्वारा रचित व हरियाणा साहित्य अकादमी के सौजन्य से प्रकाशित “काँच-सा मन” हाइकु संग्रह का विमोचन मुख्य अतिथि, विशिष्ट अतिथि एवं संस्था के अभिभावक एवं वरिष्ठ पदाधिकारियों द्वारा किया गया। साथ ही प्रतिभावान बालिका सुश्री यशिका खुराना को महारानी लक्ष्मी बाई ब्रिगेड का ब्रांड एम्बेस्टर बनाया गया।
इस अवसर पर  स्वावलंबन ट्रस्ट के विभिन्न पदाधिकारियों, श्री अतुल श्रीवास्तव, श्री वीरेंद्र गौड़, श्री विनय खरे,  श्रीमती परिणीता सिन्हा, श्रीमती ममता श्रीवास्तव, श्री राम श्रीवास्तव, डॉ.अंजु गुप्ता, डॉ. आशुतोष निगम, श्रीमती शालिनी कुलश्रेष्ठ, श्रीमती उर्वशी सक्सेना, श्री राम मनोहर भूषण, श्रीमती मीनू कौशल, याशिका खुराना मुख्य प्रशिक्षक (महारानी लक्ष्मीबाई ब्रिगेड), श्रीमती सीमा शर्मा प्रशिक्षक (महारानी लक्ष्मीबाई ब्रिगेड), अजय खैराल युवा संयोजक (हरियाणा प्रदेश),संजय श्रीवास्तव सह- कार्यालय सचिव कविता,स्नेहा,चंचल,कल्पना आरची आदि की उपस्थिति सराहनीय व उत्साहवर्धक रही।
संस्था के संरक्षक श्री गंगा शंकर मिश्र , श्री विनोद श्रीवास्तव , कर्नल समर सिंह , मार्गदर्शक श्री राजेश मदान , डॉ. शत्रुघन सिंह ,श्री प्रहलाद शर्मा आदि द्वारा संस्था के समस्त सदस्यो को प्रशंसा पत्र प्रदान कर प्रोत्साहित किया गया।
श्रीमती भावना मुख्य निधि सचिव, भारत सरकार, श्रीमती स्वाति चंडोक अध्यक्ष डिवाइन ब्लड बैंक ,पूजा शर्मा वरिष्ठ पत्रकार, पंजाब केसरी, श्रीमती भावना, वरिष्ठ रेडियो जॉकि मानव रचना, श्रीमती दीक्षा,रेडियो जॉकि मानव रचना, श्रीमती निधि गुप्ता अध्यक्ष- रोटरी इनर व्हील क्लब, श्रीमती रमा शर्मा अध्यक्ष- भारत विकास परिषद, श्रीमती नीतू गुप्ता अध्यक्ष- महिला संभाग, जे.सी.बोस विश्वविद्यालय आदि को उत्कृष्ट समाज सेवा सम्मान से सम्मानित किया गया।
स्वावलंबन शब्द सार की राष्ट्रीय संयोजिका  श्रीमती परिणीता सिन्हा ने संस्था की साहित्यिक गतिविधियों से अवगत कराया। भावना सक्सैना, कमल धमीजा, रचना निर्मल, सीमा सिंह मोना सहाय एवम् परिणीता सिन्हा द्वारा स्त्री की वेदना व समर्पण को रेखांकित करती रचनाओं का भावपूर्ण पाठ किया गया। भावना सक्सैना की पंक्तियों किसी सा होने की चाह क्यूँ, तेरा अपना अलग वजूद है ने सबका मन मोह लिया।

कार्यक्रम का कुशल मंच संचालन श्रीमती भावना सक्सैना एवम् मनीषा श्रीवास्तव द्वारा किया गया तथा कार्यक्रम का समापन राष्ट्रीय महामंत्री श्री राघवेंद्र मिश्रा जी द्वारा धन्यवाद ज्ञपित कर किया गया ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here