#गरीबों के सभी कर्ज माफ़ करे सरकार  #गरीबों का उत्पीड़न बंद हो – भाकपा माले  #सभी को राशन की गारंटी हो

2
92
15सितंबर, फूलपुर  प्रयागराज
 गरीबों का कर्जा माफ़ करने, समय देने व राशन कार्ड पर राशन न मिलने व कार्ड में नाम न होने के सवाल पर देश व्यापी विरोध प्रदर्शन के तहत तहसील  फूलपुर,  प्रयागराज में  प्रदर्शन किया और  तहसीलदार  के नाम ज्ञापन सौंपा. माले नेताओं ने कहा कि कोरोना वायरस संकट की वजह से लाकडाउन हुआ है, सभी कामकाज बंद हैं, स्वयं सहायता चलाने वाली महिलाओं द्वारा लगातार कर्ज माफ़ी के सवाल को  कई महीनों से उठाया जाता रहा है. महिलाओं के आंदोलन के बाद कुछ जगहों पर ये पीछे हटे हैं लेकिन कई जगहों पर अभी भी महिलाओं को धमकाकर जबरन वसूली कर रहे है. एक जगह तो असमर्थता जताने पर कहां गया कि शरीर बेचकर पैसा  जमा करो! कहीं कोई महिला अगर किस्त जमा करने की स्थिति में नहीं है तो उसके घर का सामान उठाकर ले जा रहे हैं|
 लॉकडाउन अभी पूरी तरह खत्म नहीं हुआ है. छोटे रोजगार काम- धंधे बंद है. लॉकडाउन से पहले महिलाओं ने जो भी कर्ज लिए हैं, वह शौक से नहीं, मजबूरी में लिए हैं. आज जबकि भोजन का इंतजाम कठिन है तब लोन की किस्त कहां से जमा करें ? इसलिए हमारी मांग है कि  महिलाओं से कर्ज वसूली बंद किया जाए,
 जब पूजीपति अरबों रुपयों का कर्ज नहीं चुकाते तो हमारी सरकार देश के खजाने से (जिसे जनता टैक्स भरती हैं) उनका कर्ज चुकाती है और महिलाएं जो कि  पहले हमेशा अपना कर्ज चुकाती रही हैं उन्हें इस संकट के समय में भी सरकार मदद नहीं कर रही है!
        आज कोरोना संक्रमण तेज रफ्तार से बढ़ रहा है. स्वास्थ्य सुविधाओं के अभाव में लोग भयभीत और निराश हैं, लेकिन फाइनेंसर कम्पनियां  नागरिकों की चिंता के बजाय अपने कर्जे की वसूली में लगी हुई है. इस वसूली को शक्ति से रोक लगाकर शीघ्र
  निम्न मांग को पूरा करने की मांग की –
1- स्वयं सहायता समूह से जुड़ी सभी महिलाओं के सामूहिक कर्ज माफ किया जाय,
2- एक लाख रूपये तक का निजी कर्ज चाहे वो सरकारी, माइक्रोफाइनेंस संस्थानों अथवा निजी बैंकों से लिए गए हो, का लॉकडाउन के दौर का  सभी किस्त माफ किया जाय,
3- सभी छोटे कर्जो की वसूली पर 31 मार्च 2021 तक रोक लगाई जाय,
4- स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को रोजगार और उनके उत्पादों की खरीद सुनिश्चित करो,
5- एक लाख रूपये (₹100000) तक के कर्ज को ब्याज मुक्त बनाया जाय,
6- शिक्षा लोन को ब्याज मुक्त किया जाय,
7- सामूहिक कर्ज के नियमन के लिए राज्य स्तर पर एक अथॉरिटी बनाई जाय,
8- स्वरोजगार के लिए दस लाख रूपये तक के कर्ज  0.4% दर हो,
 9-जिस छोटे कर्ज का ब्याज मूलधन के बराबर या उससे अधिक दे दिया गया हो उस कर्ज को समाप्त किया जाय.
10-  सभी गरीबों के राशन कार्ड की गारंटी की जाए, जिन सदस्यों का नाम कट गया है तत्काल जोड़ा जाए.
       प्रदर्शन में त्रिलोकी नाथ पटेल,  देवानंद, जयप्रकाश,  नूरजहां बेगम, अमरावती, निर्मला,  राम अचल, टंटू राम, मोहम्मद फारुख, किसान नेता राम अभिलाष यादव, एडवोकेट वीरेंद्र कुमार सिंह, डॉ. ध्यान चंद पटेल, सत्येंद्र तिवारी शामिल हुए।
                  द्वारा –
त्रिलोकी नाथ
  भाकपा माले, फूलपुर, प्रयागराज मो. 7571961015

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here