धूमधाम से मनाया गया विश्व आदिवासी दिवस 

3
137
बोकारो:  सरकार के द्वारा कोविड 19 निर्देश का पालन करते हुए शहर के सेक्टर 12 स्थित सरना स्थल में विश्व आदिवासी दिवस के अवसर पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत वृक्षारोपण कर किया गया। अध्यक्षता संजू सामंत ने किया। मौके पर श्री समानता ने कहा कि हमारा जीवन संघर्षमय है। आज हमें फिर एक बार अपने अधिकार के लिए संघर्ष करना होगा। उन्होंने कहा कि झारखंड की पहचान आदिवासी परंपरा, कला-संस्कृति और गीत-नृत्य जिनको आज दुनिया भर में जाना जाता है। इस दौरान महली उरांव, बलदेव उरांव, नारायण, जगन्नाथ, सुभाष पाहन, रंजीत, एतवा, लखन एवं शंकर लिंडा, पालो उरांव, शनचरिया, सीमा, शांति,बेरसो, पूनम, सीमा सामंत सहित अन्य उपस्थित थे।
अधिकार के लिए करना होगा संघर्ष : बिरूवा
सेक्टर 12 स्थित आसस विद्यालय में जनअधिकार मंच की ओर शारीरिक दूरी का पालन करते हुए विश्व आदिवासी दिवस मनाया गया। मौके पर सामाजिक कार्यकर्ता रेंगो बिरुवा ने कहा कि हम आदिवासियों के लिए 9 अगस्त का दिन बहुत महत्वपूर्ण है। सदियों से हम आदिवासियों पर हो रहे अत्याचार, शोषण, उत्पीड़न एवं आदिवासीयत पर संकट से बचाव के लिए चिंतन करना है। श्री बिरुवा ने कहा आज हमें खुशियां मनाना नहीं है बल्कि आदिवासियों के साथ हो रहे जुल्म व जल, जंगल, जमीन, पर्यावरण सुरक्षा, संसाधन तथा पूरे प्राकृतिक के साथ छेड़छाड़ एवं प्रताड़ना का प्रतिवाद करना है। उन्होंने कहा आज आदिवासियों की जनसंख्या पूरे विश्व में लगभग 37 करोड़ है। जिसमें हमारा भारत देश में ही सिर्फ लगभग दस करोड है। इस दौरान  टुटीशन पुर्ती, झरीलाल पात्रा, शंकर केराई, डंगा हेम्ब्रम, दीपक गोडसोरा सहित अन्य उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here