बेरोजगारी के खिलाफ युवाओं ने भरी हुंकार

0
678
पूरे देश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन को नौजवानों ने राष्ट्रीय बेरोजगारी दिवस के रूप में याद किया इंकलाबी नौजवान सभा (इनौस ), ऑल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन (आइसा ) ने उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों,  इलाहाबाद, बनारस, लखनऊ, गोरखपुर, फैजाबाद, रायबरेली, चंदौली, गाजीपुर, बलिया, मथुरा, आजमगढ़, सीतापुर आदि, में कार्यक्रम आयोजित किया.
नेताओं ने  उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा  नौकरियों में 05 साल संविदा पर रखने के प्रस्ताव का विरोध करते हुए कहा की उत्तर प्रदेश सरकार भी रोजगार देने से पीछे हट गई. प्रदेश के सभी आयोगों, बोर्डों (उ. प्र.लोकसेवा आयोग, उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग, उ. प्र. अधिनस्त शिक्षा सेवा चयन आयोग, माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड, पुलिस भर्ती बोर्ड ) में न सिर्फ नौकरियां कम हुई है बल्कि परीक्षाओं में अनियमितता व भ्रष्टाचार आम बात होती जा रही है.  सभी संस्थाएं समय से परीक्षा,परिणाम व नियुक्ति देने में अक्षम हो गई है. प्रधानमंत्री महोदय 06माह में नियुक्ति देने की बात करते हैं लेकिन 6 साल में भी नियुक्ति पूरी होती नहीं दिखाई देती . भर्तियों में भ्रष्टाचार व न्यायालय में मामला लंबित  होने का एलटी, 69000 शिक्षक भर्ती बानगी भर है. रोजगार देने की जिम्मेदारी सरकार की है लेकिन आज नौजवानों को आयोग के गठन, सदस्यों की नियुक्ति, पदों का विज्ञापन, परीक्षा, परिणाम,  नियुक्ति और ज्वाइनिंग  के लिए सड़क पर आंदोलन व न्यायालय का रास्ता अपनाना पड़ता है.आज सरकार ज्वाइंट सेक्रेटरी के पद पर लेटरल एंट्री के द्वारा नियुक्त कर  लोकसेवा आयोग की स्वायत्तता व आरक्षण की व्यवस्था ख़त्म कर रही है. जो संस्था के साथ संविधान पर चोट है.
 आज हुए प्रदर्शन को रोकने के लिए पुलिस प्रशासन ने लाठीचार्ज किया और कई युवाओं को गिरफ्तार कर ले गई.
प्रदर्शन में इनौस प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह,  सचिव सुनील मौर्य, आइसा प्रदेश अध्यक्ष शैलेश पासवान, सचिव शिवा रजवार, इनौस के उदयभान चौधरी,राजीव गुप्त, कमलेश यादव,  ठाकुर प्रसाद, मनोज कुशवाहा, संजय निषाद,टीपू सुल्तान,प्रदीप ओबामा  आइसा से राजेश, अहमद, अतुल, प्रियांक मणि, सोनू यादव आदि लोग शामिल रहें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here