नितिन राज को फर्जी केस में जेल भेजने के खिलाफ आइसा ने किया प्रदेशव्यापी प्रदर्शन 

2
126
क्या लोकतांत्रिक व  संवैधानिक अधिकारों के लिए लड़ना योगी सरकार में अपराध हो गया है – आइसा
बिना शर्त नितिन राज समेत देश के सभी राजनीतिक कार्यकर्ताओं को रिहा करे सरकार 
13 जनवरी 2021, इलाहाबाद । ऑल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन (आइसा) के उत्तर प्रदेश के राज्य उपाध्यक्ष कॉमरेड नितिन राज को राजनीतिक दबाव में जेल भेजने के खिलाफ आइसा इलाहाबाद विश्वविद्यालय इकाई ने आज छात्रसंघ भवन पर प्रदेशव्यापी विरोध प्रदर्शन किया । विरोध प्रदर्शन में इकाई सचिव कॉमरेड सोनू यादव ने कहा कि भाजपा सरकार विपक्षहीन सत्ता चलाना चाह रही है जो राजतंत्र का चरित्र है । इसलिए यदि छात्र  सीएए-एनआरसी, कृषि कानूनों, नई शिक्षा नीति के खिलाफ आंदोलन   करते हुए सरकार की आलोचना करते हैं तो उनको देशद्रोही कहते हुए भाजपा सरकार यूएपीए व रासुका जैसे धाराओं में फंसाकर जेल भेज रही है । क्या अपने लोकतांत्रिक व संवैधानिक अधिकारों के लिए लड़ना योगी-मोदी सरकार में अपराध हो गया है ?  लखनऊ के घंटाघर पर चले  CAA- NRC आंदोलन में शामिल होने मात्र होने पर AISA के साथी नितिन राज पर फर्जी मुकदमे कर जेल भेज दिया था । लेकिन सुप्रीम कोर्ट के पैरोल पर बाहर आये नितिन राज ने जब लखनऊ कोर्ट में जमानत याचिका डाली तो योगी सरकार ने अपने सत्ता के दबाव में उनकी याचिका खारिज करा फिर से जेल भिजवा दिया । ठीक इसी तरह परसों इलाहाबाद विश्वविद्यालय में कैंपस खोलने, ऑफलाइन क्लासेज शुरू करने की मांग कर रहे छात्रों पर योगी पुलिस ने क्रूरतापूर्ण लाठी चार्ज किया । आइसा योगी के इस पुलिसिया तानाशाही की भर्त्सना करता है ।
        आइसा राज्य अध्यक्ष शैलेश पासवान ने कहा कि साथी नितिन राज ने जब से योगी को काला झंडा दिखाया है तब से वह योगी सरकार की आंखों के कांटे बने हुए हैं और मुख्यमंत्री योगी उनसे दुश्मन की तरह व्यवहार कर रहे हैं । आगे उन्हों मांग किया कि सभी सीएए-एनआरसी आंदोलनकारियों, राजनीतिक-सामाजिक कार्यकर्ताओं व बुद्धिजीवियों पर से सरकार सभी फर्जी मुकदमे वापस ले और  आइसा नेता नितिन राज को अविलम्ब रिहा करे।
प्रदेशव्यापी विरोध प्रदर्शन में आइसा कार्यकर्ता विवेक सुलतानवी, सर्वेश धोबी, मेहंदी हसन पोयेन, मनोज कुमार, विकास यादव, सुनील, मोहित आदि उपस्थित रहे ।
         द्वारा
     शालिनी मौर्या
    सह-सचिव
आइसा, इविवि इकाई

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here