भाजपा की सेलेक्टिव बुलडोजर राजनीति के विरोध में मांग पत्र

0
478

मांग पत्र
28 अप्रैल 2022

सेवा में,
महामहिम राष्ट्रपति,
भारत सरकार,
नई दिल्ली।

विषय: दिल्ली और उत्तर प्रदेश में अतिक्रमण हटाने के नाम पर भाजपा की सलेक्टिव बुलडोजर राजनीति के विरोध में मांग पत्र

महोदय,
इस मांगपत्र के माध्यम से हम आपका ध्यान देश की राजधानी दिल्ली में और उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार द्वारा गरीबों, मुस्लिम समुदाय, दलितों और आदिवासियों का दमन करने और देश में साम्प्रदायिक तनाव पैदा करके नफरत और हिंसा की सलेक्टिव बुलडोज़र राजनीति की ओर ले जाना चाहते हैं।
जैसा की आपको ज्ञात होगा कि विगत 20 अप्रैल को भाजपा के साम्प्रदायिक एजेंडे को पूरा करने के लिए NDMC ने जिस तरह से जहांगीरपुरी C ब्लॉक में छोटे- छोटे रोजगार करने वालों पर बुल्डोजर चलाया। उसके चलते आज सैकड़ों परिवारों के लिए जीवनयापन का संकट खड़ा हो गया है। भाजपा नेताओं के इशारे पर दिल्ली के अनेक इलाकों में MCD की तरफ से मुस्लिम समुदाय को निशाना बनाकर अतिक्रमण विरोधी अभियान चलाया गया। मकसद अतिक्रमण हटाना कत्तई नहीं था क्योंकि सिर्फ मुस्लिम इलाकों में ही सलेक्टिव बुलडोज़र चलाया गया और परिवारों को उजाड़ा गया। उत्तर प्रदेश में दुबारा सत्ता में आई भाजपा सरकार मिर्जापुर, सोनभद्र और आजमगढ़, सीतापुर आदि जिलों में गरीबो, दलितों, और आदिवासियों को उनकी पुश्तैनी ज़मीन से जबरन उजाड़ रही है, घरों पर अवैध ढंग से बुलडोज़र चलवा रही है।हमारा देश एक लोकतांत्रिक देश है यहां सत्ता पर काबिज सरकार को लोकहित में ही फैसले लेना चाहिए न की साम्प्रदायिक और तानाशाही तरीके से। आशा है आप इन बातों को संज्ञान में लेकर उचित कार्रवाई के आदेश देंगे।

मांगे:
★ दिल्ली में जहाँगीरपुरी इलाके में बुल्डोजर प्रभावित परिवारों के राहत और पुनर्वास की गारंटी की जाए।

★ गैरकानूनी ढंग से बुलडोज़र चलवाने के आदेश देने और नफ़रत और हिंसा की राजनीति को अंजाम देने वाले भाजपा नेताओं को दंडित किया जाए।
★ उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर, सोनभद्र, आजमगढ़ आदि जिलों में गरीबो, दलितों आदिवासियों को उनकी पुश्तैनी जमीनों से बेदखल करने पर तत्काल रोक लगाई जाए और ग्रामीण गरीबों को जमीन का पट्टा उनके नाम किया जाय।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here