आदर्श नागेपुर में हाथरस गैंगरेप के बलात्कारियों के खिलाफ सड़क पर उतरीं महिलाएं

4
150
 *महिलाओं ने मुँह पर कालीपट्टी बाँधकर रैली निकाली, बलात्कारियों को फाँसी देने का किया मांग*
 *महिला सुरक्षा के लिए प्रधानमंत्री से लगायी गुहार,पंचायत भवन व नंदघर पर किया प्रदर्शन*
 *मिर्जामुराद-* प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम नागेपुर व बीरभानपुर में हाथरस में  दलित लड़की के साथ हुए सामूहिक बलात्कार की शिकार पीड़िता के दर्दनाक मौत पर  दुष्कर्मियों के खिलाफ कठोर कार्यवाही की माँग को लेकर सैकड़ों लड़कियां व महिलाएं सड़क पर उतरी। लोक समिति द्वारा आयोजित  जन आक्रोश रैली में महिलाओं ने मुँह पर काली पट्टी बाँधकर  छेड़खानी,बलात्कार, महिला हिंसा के खिलाफ रैली निकाली। नंदघर पर पहुँचकर  महिलाएं दुष्कर्मियों को फाँसी दो, महिला हिंसा बंद करो, छेड़खानी पर रोक लगाओ, चुप नही रहना है हिंसा नही सहना है, भ्रष्ट सरकार होश में आओ महिलाओं को सुरक्षा दो आदि जोरदार नारे लगाये। लोगों ने बलात्कारियों को अविलम्ब सजा देने , पीड़िता के परिवार वालों को मुआवजा व सरकारी नौकरी तथा महिलाओं और लड़कियों की सुरक्षा के लिए प्रधानमंत्री से गुहार लगायी। महिलाओं ने हाथरस  की पीड़ित बेटी को श्रद्धांजलि दिया और महिला हिंसा को जड़ से मिटाने का संकल्प लिया। दूसरी तरफ बीरभानपुर गाँव में दर्जनों लड़कियों और महिलाओं ने पंचायत भवन पर हाथरस गैंगरेप के खिलाफ प्रदर्शन किया।
गौरतलब हो कि बिगत 14 सितम्बर को हाथरस की 19 वर्षीय दलित लड़की को गाँव के ही चार दरिंदो ने सामूहिक बलात्कार करके जानलेवा हमला कर दिया था इतना ही नही बलात्कारियों ने दुष्कर्म करने के बाद  पीड़िता का जीभ भी काट दिया था। जिसके बाद से पीड़िता को अलीगढ़ के एक अस्पताल में वेंटिलेटर पर रखा गया था, करीब दो सप्ताह से जिन्दगी और मौत से जुझ रही पीड़िता का उपचार के दौरान मंगलवार को सफदरगंज अस्पताल में दर्दनाक मौत हो गयी।
लोक समिति के संयोजक नन्दलाल मास्टर ने कहा कि  हाथरस की बेटी को हैवानो ने बलात्कार करके  मार डाला यह केवल एक घटना नही है बल्कि हर गाँव व शहर में  आये दिन लड़कियों और महिलाओं के साथ हिंसा छेड़खानी,व बलात्कार की घटनाएं हो रही है, सरकार को इन हैवानो के खिलाफ कठोर कार्यवाही करनी चाहिए।
महिला संगठन की संयोजिका अनीता पटेल  ने कहा कि  महिला हिंसा के खिलाफ  आराजी लाईन और सेवापुरी ब्लाक के गाँव गाँव में नुक्कड़ सभा,रैली,जुलूस,हस्ताक्षर अभियान आदि के माध्यम से लोगों को जागरूक किया जायेगा। लोक समिति की सोनी ने कहा कि महिलाओं और लड़कियों के साथ आये दिन छेड़खानी और बलात्कार की घटनाएँ हो रही है, इसलिए हमे अपनी सुरक्षा की जिम्मेदारी स्वयं अपनी हाथ में लेनी होगी। महिला संगठन कि आशा ने कहा कि गाँव  ज्यादातर लोग शराब में डूब चुके है ।और इसका खामियाजा महिलाओं को भुगतना पड़ रहा है महिलाओं के उपर होने वाली घरेलूहिंसा,उत्पीड़न, बलात्कार,मारपीट,आदि का सबसे बड़ा जिम्मेदार शराब है। शराब को पूरे प्रदेश में बिहार की भांति बंद करने की मांग की।
कार्यक्रम में मुख्य रूप से अनीता, आशा, सोनी,सरोज ,मधुबाला, खुशबू, वर्षा कलावती,अंजली, शमबानो,अमित, सीमा,श्यामसुन्दर, विजय,रामबचन,सुनील, पंचमुखी, प्रेमा  आदि लोग शामिल रहे। धरने का नेतृत्व महिला लोक समिति संयोजिका अनीता पटेल ने किया।


Nandlal Master
Lok Samiti
Varanasi U.P
www.loksamiti.org
Mobile- +91-9415300520

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here