रमजान के पहले दिन मुस्लिम परिवारों के रोज़ा इफ़्तार के लिए बांटी गई खास राहत सामग्री

3
281

आदर्श ग्राम नागेपुर की युवा टोली ने रमज़ान में रोजेदारों गरीब मुस्लिम परिवारों को दी ख़ास राहत सामग्री की सौगात

लोक समिति, मुहीम और आशा ट्रस्ट कार्यकर्ताओ ने सैकड़ों परिवार में बांटी राहत सामग्री

मिर्जामुराद : लोक समिति और मुहीम संस्था के सौजन्य से प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम नागेपुर से कोरोना संक्रमण से हुए लॉकडाउन से परेशान गरीब बुनकर, दिहाड़ी मज़दूरों और ज़रूरतमंद परिवारों तक लगातार राहत सामग्री पहुंचाने का काम ज़ारी है। इस कार्यक्रम के तहत रमज़ान के पहले दिन रोजेदार गरीब मुस्लिम परिवारों के लिए ख़ास राहत सामग्री तैयार कर वितरित की गयी।

आज आराजीलाइन ब्लॉक के मेहंदीगंज गांव में 15 परिवार और हरसोस गांव की मुस्लिम बस्ती के 22 ज़रूरतमंद और गरीब परिवार यानी कुल 37 गरीब और ज़रूरतमंद परिवार के कुल 269 सदस्यों तक यह राहत सामग्री पहुंचायी गयी।

इस नेक पहल के लिए वाराणसी में जन सरोकारों के साझा संगठन”साझा संस्कृति मंच” लोक समिति, मुहिम संस्था और आशा ट्रस्ट के आह्वान पर राहत कार्य अभियान में नागेपुर के दर्जनों युवा लगातार इस राहत कार्य में अपना योगदान देकर ग्रामीण क्षेत्रों में लगातार पिछले कई दिन से जरूरतमन्द लोगों को लगातार राहत सामग्री वितरित कर रहे है। लोगों ने आम जनता, व्यापारी, प्रबुद्ध वर्ग के सहयोग से राहत सामग्री एकत्रित किया।

उल्लेखनीय है कि बीते करीब तीन सप्ताह से लगातार चलने वाले इस राहत कार्य में करीब 1500 से अधिक ज़रूरतमंद और गरीब परिवारों तक राहत सामग्री पहुंचायी जा चुकी है। इस राहत कार्य के अगले चरण के लिए योजनाबद्ध तरीके से आज यानी रमजान के पहले दिन से राहत कार्य शुरू किया जाना है।
लोक समिति के संयोजक नन्दलाल मास्टर ने बताया कि अनेकता में एकता हमारी भारतीय सभ्यता की पहचान है, ऐसे में हमें इस संकट की घड़ी में बिना किसी भेदभाव के हर ज़रूरमंद इंसान की मदद करनी चाहिए। इसलिए हमारे राहत कार्य में रमजान के पहले दिन से गरीब व ज़रूरतमंद मुस्लिम रोजेदार भाईयो के परिवारों तक खास राहत सामग्री पहुंचायी जाएगी, जिसमें एक परिवार के लिए9 पर्याप्त खजूर, चीनी, चना, पापड़, सेवई के साथ साथ दाल, चावल, आटा, नमक, तेल, सोयाबीन, आलू, प्याज, बिस्कुट और साबुन जैसी ज़रूरी चीजें शामिल है।

इस राहत कार्य के बारे में आगे बताते हुए मुहीम संस्था की स्वाती सिंह ने बताया कि अगले चरण में गर्भवती महिलाओं, विकलांगों, बच्चों से अलग रहने वाले बुजुर्गो और विधवाओं जैसे लोगों को राहत कार्यों के लिए केंद्रित किया जाएगा और उनकी जरूरत और पोषण को ध्यान में रखकर राहत सामग्री तैयार की जा रही है और इस राहत कार्य को लॉकडाउन तक ज़ारी रखा जाएगा।

इस अवसर पर मुकेश प्रधान,राकेश,विनोद, अनीता,सोनी, नाज़मा,राजेश गौंड़,बबलू अंसारी,सुल्तान, रामबचन,अमित,श्यामसुन्दर,गुड्डी, नन्दलाल मास्टर, रामकिंकर, स्वाती सिंह, महेंद्र अमित,आशा, सुनील,पंचमुखी,मनीष,गोलू,अरविन्द, सोनू आदि लोग शामिल रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here