ऐक्टू का आह्वान: मज़दूर अधिकार बचाओ, ग़ुलामी के लेबरकोड जलाओ

0
1719

बोकारो: सेंटर ऑफ़ स्टील वर्कर्स यूनियन ने आज बोकारो के सेक्टर चार गांधी प्रतिमा के सामने मज़दूर अधिकार बचाओ, ग़ुलामी के लेबर कोड जलाओ, अभियान की शुरूआत की। अभियान की अध्यक्षता जे एन सिंह ने की।
अवसर पर भारत को विनाशकारी मोदीशाही के चंगुल से मुक्त करो, निजीकरण और देश के संसाधनों को बेचने, बढ़ती बेरोज़गारी और लोकतंत्र के हमले के ख़िलाफ़ प्रतिरोध तेज करो, काम के बारह घंटे का कानून वापस लो, जैसे नारों के साथ कार्यक्रम की शुरुआत की गई।


अवसर पर देवदीप सिंह दिवाकर ने कहा कि बोकारो के श्रमिकों की तमाम लंबित माँगो का न मिलना मोदी सरकार का मज़दूर विरोधी चरित्र को उजागर करता है। ख़ाली पड़े पदों पर बोकारो प्रबंधन न तो ट्रेंड अप्रेंटिस, मृत कर्मचारियों के आश्रितों, न ही विस्थापित नौजवानों को नौकरी के ज़रिए भरने का प्रयास करती है। सवाल लंबित वेज रीभिजन या सुविधा कटौती का हो मोदी सरकार के रहते किसी का समाधान निकलना संभव नहीं है। वक्ताओं ने कहा कि देश में बेरोज़गारी चरम पर है, देश का GDP माइनस 24 पर्सेंट पर चला गया है। इस सब से लोगों का ध्यान हटाने के लिए यह सरकार तरह तरह का प्रपंच करती है। कोरोना महामारी की आड़ लेकर यह आर एस एस का एजेंडा लागू कर रही है और सरकार अपने विरोध में उठने वाली तमाम आवाजों को बंद करने का प्रयास कर रही है। वक्ताओं ने कहा कि सत्ता की मदहोशी में चूर इस सरकार को जाना ही होगा। मौके पर देवदीप सिंह दिवाकर, जे एन सिंह, एस एन प्रसाद, प्यारेलाल, लोकनाथ सिंह, देवलोचन राम,आर पी वर्मा, वी आर भगत, एम पी भक्ता, महेन्द्र प्रसाद,सूरज सिंह आदि अपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here