आजमगढ़ की किसान संग्राम समिति ने भी सँभाला मोर्चा

214
660

कृषि उपज व्यापार एवं वाणिज्य संवर्धन एवं सुविधा विधेयक 2020, मूल्य आश्वासन तथा कृषि सेवाओं पर किसान सशक्तिकरण और संरक्षण समझौता 2020, आवश्यक वस्तु संशोधन अधिनियम 2020 जैसे तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने, न्यूनतम समर्थन मूल्य की सुनिश्चितता के लिए कानून बनाने तथा बिजली बिल संसोधन 2020 को निरस्त करने के लिए किसान संगठनों के राष्ट्रव्यापी अनशन आंदोलन के समर्थन में किसान संग्राम समिति आजमगढ़ के बैनर तले डॉ रवींद्र नाथ राय संपादक सामायिक करवां के नेतृत्व में एक दिवसीय अनशन व धरने का कार्यक्रम गांधी तिराहा रैदोपुर, आजमगढ़ पर किया गया।

2 बजे भारी भरकम पुलिसकर्मियों ने दबंगई दिखाते हुए और सुप्रीम कोर्ट के आदेश का अहवेलना करते हुए हमारे शांतिपूर्ण धरने/अनशन को जबर्दस्ती उठा दिया लेकिन धरनारत किसान संग्राम समिति के साथियों ने पुनः सामयिक कारवां कार्यालय, रैदोपुर में आकर अपने अनशन/धरने को पूर्व निर्धारित समय 3 बजे तक चलाया।विभिन्न नारों, पोस्टरों और जनगीतों के साथ आंदोलन सफल रहा।

अनशनरत आंदोलनकरियों की प्रमुख मांगे:-
(1)कृषि के तीनों नए कानूनों को वापस लो।
(2) न्यूनतम समर्थन मूल्य के लिए कानून बनाओ।
(3) बिजली बिल संसोधन 2020 अध्यादेश रद्द करो।
(4) किसानों का दमन उत्पीड़न बंद करो।

अनशन/ धरने में प्रमुख रूप से डॉ रवींद्र नाथ राय, सूबेदार यादव, दुखहरन राम ,दानबहादुर मौर्य, सूरजपाल, रामाश्रय यादव राहुल, तेज, अवधेश, अनिकेत, अंबिका पटेल, जगधर मास्टर, मिथिलेश, रामराज,शिवधन,राकेश, अरविंद, सर्वजीत, जगजीवन आदि ने भाग लिया।

धरने की अध्यक्षता सूबेदार यादव और संचालन राहुल ने किया।

डॉ रवींद्र नाथ राय
9451830515

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here