वृहद झारखण्ड राज्य के लिए जनांदोलन तेज करने पर बल 

0
636

विशद कुमार

 वृहद झारखण्ड राज्य (वर्तमान झारखंड राज्य के अलावा ओड़शा, पश्चिम बंगाल, छत्तीसगढ़ के कुछ जिले मिलाकर) के लिए जनांदोलन को तेज करना, धर्म निरपेक्षता को बढ़ावा देना, वृहद झारखंड क्षेत्र के मेहनतकश किसान-मज़दूरों को शोषण से मुक्ति, बहुस्तरीय एवं समाजवादी व्यवस्था की ओर अग्रसर होना, झारखंडी भाषाई व धार्मिक अल्पसंख्यक समुदायों, विभिन्न राष्ट्रीयता व भाईचारा का भाव पैदा करना, वृहद झारखण्डी संस्कृति की रक्षा करना एवं इसको विकसित करने हेतु झारखंडियों में जागरूकता पैदा करना, झारखंडी जनता को जागरूक करना ताकि उनके मौलिक अधिकार, लोकतांत्रिक अधिकार एवं मानवाधिकार का उल्लंघन नहीं हो, सामाजिक व्यवस्था का पुनर्गठन करना और उनकी उचित मांग हेतु झारखंडियों में एकता लाना सहित अन्य उद्देश्यों व लक्ष्यों को लेकर
5 अप्रैल को बोकारो के सेक्टर 9 के वैशाली मैदान स्थित केंद्रीय उपाध्यक्ष राजीव मुंडा के आवसीय कार्यालय में वृहद झारखंड जनाधिकार मंच की ओर से जागरूकता सह सदस्यता अभियान की शुरूआत हुई। अभियान का नेतृत्व करते हुए राजीव मुंडा ने कहा कि इस दौरान लगभग 200 लोगों ने मंच की सदस्यता ली। उन्होंने कहा कि सदस्यता अभियान का प्रारंभ खरसांवा विधान सभा क्षेत्र से मंच के केंद्रीय अध्यक्ष बिरसा सोय ने की। जो आने वाले तीन माह तक पूरे वृहद झारखंड क्षेत्र में चलेगा। इस दौरान तीन लाख नए लोगों को जोड़ा जाएगा। गांव में विशेषकर युवाओं व महिलाओं को मंच से जोड़ा जाएगा।
महासचिव आकाश टुडू ने कहा कि एक बार फिर से वृहद झारखंड की मांग के लिए झारखंडी जनता को संघर्ष करना होगा। वृहद झारखंड का सपना एक साजिश के तहत अब भी अधूरा है। उन्होंने कहा कि वृहद झारखंड केवल एक नाम नहीं आदिवासियों एवं मूल निवासियों की हिस्सेदारी पहचान और एकता का नाम है। इस दौरान मंच के केंद्रीय महासचिव कुमार आकाश टुडू, महावीर कुमार, हीरालाल हांसदा के अलावा मंच के अन्य सदस्य मौजूद थे। सदस्यता लेने वालों में प्रकाश चंद्र, कुणाल कुमार महतो, प्रीतम कुमार मुंडा, राजू कुमार, दर्शनी देवी, मीनू कुमारी, रूबी कुमारी, तारापद वर्धन, बलराम महतो, दाऊद अंसारी, विनोद महतो, नंदलाल महतो, मनोज कुमार महतो सहित कई लोग शामिल थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here