मनरेगा कर्मियों की 5 सूत्री मांगों को नए वर्ष में सौगात के रूप में देगा विभाग 

3
141
रांची : 17 दिसंबर समय श्रीमति आराधना पटनायक सचिव ग्रामीण विकास विभाग और मनरेगा आयुक्त, झारखण्ड सरकार के कार्यालय में मनरेगा कर्मियों के साथ हड़ताल अवधि में हुए समझौते पर विस्तृत चर्चा हेतु झारखण्ड राज्य मनरेगा कर्मचारी संघ झारखण्ड प्रदेश के 6 सदस्यीय वार्ता टीम में उदय प्रसाद अध्यक्ष संसदीय सलाहकार समिति झारखण्ड ,  महेश सोरेन प्रदेश उपाध्यक्ष , राजेश दास,  विनोद विश्वकर्मा , पंकज सिंह , अध्यक्ष वार्ता कमिटी और बंसन्त सिंह पूर्व प्रदेश अध्यक्ष मनरेगा मौजूद थे ।
इस सम्पूर्ण सौहार्दपूर्ण वार्ता के लिए टीम समन्वयन और वार्ता बिन्दुओं की तैयारी  सुशील कुमार पांडेय महासचिव संसदीय सलाहकार समिति मनरेगा संघ के मार्गदर्शन में हुआ ।
आज की वार्ता में मुख्यतः 5 सूत्री मांगों को जल्द पूर्ण कर नए वर्ष में सौगात देने का आश्वासन विभागीय अधिकारियों ने दिया । अधिकारियों ने आश्वासन दिया कि ईपीएफ कटौती , बीमा सामाजिक सुरक्षा , बर्खास्त कर्मियों की पुनर्वापसी, धनबाद के दो रोजगार सेवकों अनिरुद्ध पांडेय व मुकेश राम सहित अन्य मनरेगा कर्मियों की सेवा वापसी प्रक्रियाधीन है। बहुत से लोग तो वापस हो चुके हैं और सभी निर्दोष लोग भी वापस होंगे, सम्मान जनक मानदेय वृद्धि भी प्रक्रियारत है ।
सचिव महोदय ने आश्वस्त किया कि जल्द ही (GRS) ग्राम रोजगार सेवक, (BPO) ब्लॉक प्रोग्राम ऑफिसर और मनरेगा कर्मियों के डोंगल का अधिकार मिलेगा और कोरोना काल में फाइल मूवमेंट में विलंब हुआ इस कारण वार्ता में बनी सहमति ससमय संकल्प के रूप में जारी नहीं हो सका , सारी प्रक्रियाएं लगभग पूर्ण हैं , नए साल में आप सबों को सरकार से खुश खबरी मिलेगी ।
संघ की ओर से विभागीय अधिकारियों को पुष्प गुच्छ देकर सम्मानित किया गया और विभागीय अधिकारियों ने इसके लिए संघ को धन्यवाद दिया और कहा कि आपके काम को हम सम्मान देंगे ।
एक घण्टे चली बैठक का परिणाम भी जल्द मिलेगा इसके लिए पूरी टीम में आत्मविश्वास दिख रहा था। अवसर पर महेश सोरेन प्रदेश उपाध्यक्ष ने संघ के सभी सम्मानित साथियों को धन्यवाद दिया ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here