बापू के शहादत दिवस पर श्रद्धांजलि एवं प्रार्थना

0
470

एक दिवसीय मौन अनशन उपवास।।
राजघाट सर्व सेवा संघ की परिसंमत्ति पर सरकारी अतिक्रमण से मुक्ति का अहवान ।।।
स्थान : राजघाट सर्व सेवा संघ परिसर वाराणसी,उत्तर प्रदेश

हम राजकुमार भारत* राष्ट्रीय महासचिव,
संयुक्त किसान मोर्चा(भारत)
किसान जागृति संगठन,
राष्ट्रीय किसान समन्वय समिति,
आजादी बचाओ आंदोलन और सर्वोदय मंडल के आपातकाल समय मे १९७५ से कार्यकर्ता बने जेपी आंदोलन से आज तक महात्मा गांधी , विनोबा,लोकनायक जय प्रकाश
नारायण जी व नेता जी सुभाष चन्द बोस तथा सभी महानायक महान अन्य सभी गर्म नरम विचारधारा के शहीदों को नमन करते हुये उनके उस समय में किये गये कार्यों , अनुभव से सीखते हुये सभी विचारधारा को आज के समय मे देखते हुये , समाज मे नफरत फैलाने का काम व भारतदेश के कमाऊ सरकारी संसथान संसाधनों को उदारीकरण,

निजिकरण,
वैश्विकरण के नाम पर मल्टीनेशनल काॅरपोरेट घरानों देशी,विदेशियों को आर्थिक नीतियों और काले जन विरोधी क़ानूनों को बना कर जजियॉ टेकस ,सरकारों द्वारा अब गांधी जी की धरोहर
विचारधारा के संसथान की जगह स्थान भूमि पर कब्जा करना,
बड़े जोर शोर तरीक़े से चलाया जा रहा है।
जिसका विरोध करना भारत देश के रहने वाले हर नागरिक का धर्म व हक़ बनता है , लेकिन हम पिछले दशकों से देख रहे हैं
आज के वर्तमान में महान देश भक्त शहीदों के सपनों की बात
करने वाले बड़े बड़े पदों पर
मठाधीश बन कर बैठे मूकदर्शक बने हुये हैं उन्हें जगाने का प्रयास करना है।हम स्वार्थ की दुनीयाँ में अनुभव किया आज भी युवा
भारत के नौजवान बच्चें चाहते हैं
कोई ईमानदार सत्य न्याय अंहिसा असहयोग किसान जन आंदोलन की तरह भारत की तमाम समस्याओं को समूल नष्ट कर
नये भारत का निर्माण हो।वह तंग परेशान दुखी: और ग़ुस्से क्रोध से भरा हिंसा पर उतारू है!
नाजायज कब्जे ,बेरोजगारी,
भ्रषटाचार ,बेईमानी ,मिलावट, झूट, जुमले, यानि के दे दाल में पानी..ही पानी…
अब तो हद कर दी यारों….
कोई तो आये शुरूआत करे,अपने को होम कर दे।
मरना तो निश्चित है।क्यों ना सत्य के न्याय के लिये लडें संघर्ष करें
अहिंसावादी तरीक़े से एक प्रयोग करें अपनी भारत के नस्लों और फ़सलों को बचाने के लिये हरियाना पंजाब के कुछ मुठ्टीभर किसान संगठनो के नेताओं ने मीटींग कर एकजुट होकर न्यूनतम प्रोग्राम के तहत किसान आंदोलन शुरू कर चरख़ा और चरखड़ी के बाद में सभी विचारधारा के संगठन राजनैतिक दल के किसान नेता शामिल हो
कर राजनीति करने लगे,
अब भी निरन्तर जारी है
उन्हें करनी भी चहिये वह स्वतन्त्र हैं,उन्हें हक़ है
राजनैतिक दल बनाये और चुनाव लडे
सौदेबाज़ी,जोड तोड करे
हमें ऐतराज़ क्यो..?
हमें समर्थन करना है करे या ना करें
यह राष्ट्र या राज्य की जनता तय करेगी।
लेकिन किसान जन आंदोलन एक साल से अधिक चला और भारत की आम जनता को एक आस जगी है।
अब सब कुछ बदलेगा किसान
मजदूर पुत्र और बेटियाँ भारत*
हमने मोतीहारी पूर्वी चम्पारण बापूधाम से पदयात्रा २ अक्तूबर से बनारस तक मे जब आये ओर शाँन्ति कुटीर में चोटिल हुये ठहरने का मौका मिला ,
और सर्व सेवा संघ परिसर
राजघाट वाराणसी की जगह पर नगर निगम का कब्जा देखा व जेपी की जीप की बिगडी़ स्थिति
व परिसर की हालात देखा और
बातचीत किया तो हमने सोच विचार के बाद फैसला किया ….
कोई आये या ना आये हम अपील प्रार्थना करेंगे , सभी बापू गाँधी विनोबा जेपी के अनुयाईयों से ।आओ मिलकर बचायें गाँधी की विरासत को और गुलज़ार करें
व कब्जा छुड़वाये
नगर निगम से आजाद करवाये
सर्व सेवा संघ राजघाट वाराणसी
उतर प्रदेश की सम्पति को और
गांधी विचार को आज के दौर में गाँव -२ तक ले जायें
ग्राम स्वराज व शहीदों के सपनों का भारत
व्यवसथा परिर्वतन कर मानवता की सच्ची सेवा सुख शान्ति के लिये
प्रेम से मित्र बन कर संगठित होकर संघर्ष करें और नाजायज़ क़ब्ज़े को वाराणसी के सांसद व हमारे माननीय प्रधान मन्त्री जी
श्री नरेन्द्र मोदी जी से व्यक्तिगत अनुरोध है कि इसे संज्ञान में ले कर आदेश दें
डीएम वाराणसी को तुरन्त प्रभाव से
सर्व सेवा संघ परिसर की
नगर निगम द्वारा जगह को सीएम उत्तर प्रदेश के माध्यम से निर्देश देकर डीएम वाराणसके द्वारा राष्ट्रपिता महात्मा गॉंधी के सर्व सेवा सघ राजघाट की नगर निगम का कब्जा से ७मार्च २०२२ तक मुक्त करवाये।
जय जगत जय भारत*
राजकुमार भारत*
किसान सर्वोदय नेता
शीलम भारती*
किसान सर्वोदय नेत्री
राष्ट्रीय अध्यक्ष
महिला विंग
सयुक्त किसान मौर्चा(भारत)
किसान जागृति सगँठन

दिनांक 30 जनवरी 2022
Sarav Seva Sangh,Rajghat
Varanasi Uttar Pradesh

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here