कोर्ट-कचहरी के फँसाव से राहत हेतु सीएम योगी को लिखी चिट्ठी

0
130

सेवा में, माननीय मुख्यमंत्री
श्री योगी आदित्यनाथ जी, उत्तर प्रदेश
महोदय, सर्वप्रथम हार्दिक धन्यवाद। थाना बड़ागाँव के एसएचओ अश्विनी चतुर्वेदी के सहयोगपूर्ण रुख के कारण मेरे मकान का प्लास्टर गया। इस तरह से शासन से मुझे बड़ी राहत मिली। श्रीमान जी से करबद्ध प्रार्थना है कि मुझे आज तहसील से जो 107/116 की नोटिस मिली है, मुझे उसके झंझट से मुक्ति दिलाई जाए।
माननीय मुख्यमंत्री जी कृपया शासन को निर्देशित करें कि मुझे जमानत करवाने और तहसील के चक्कर काटने से बरी किया जाए, मैं किसी भी तरह के विवाद में शामिल नहीं हूँ। वर्ना वकील करना होगा, जमानत करवानी होगी और तहसील के महीने में दो बार चक्कर काटने होंगे। श्रीमान जी मैं कामता प्रसाद दशकों तक श्रमजीवी पत्रकार रहा हूँ और संप्रति अनुवाद करके और लिखपढ़कर किसी तरह से अपना गुजारा चलाता हूँ।
अपने पिछले आवेदन में भी मैं माननीय मुख्यमंत्री जी से अनुरोध कर चुका हूँ कि मुझे कोर्ट-कचहरी के अनावश्यक चक्कर काटने से मुक्ति दिलाई जाए। माननीय मुख्यमंत्री को भेजा गया पिछला आवेदन कुछ इस प्रकार का थाः सेवा में, माननीय मुख्यमंत्री
श्री योगी आदित्यनाथ जी, उत्तर प्रदेश
महोदय,
प्रार्थी सुमन तिवारी पत्नी कामता प्रसाद ने वाराणसी जनपद की तहसील पिंडरा, थाना बड़ागाँव के अंतर्गत आने वाले गाँव गहरपुर, पोस्ट, पुआरीकलाँ में जगदीश मिश्रा और राजनाथ मिश्रा से क्रमशः आधा और एक बिस्वा जमीन खरीदकर घर बनवाया है। विक्रेता-द्वय अब मेरे घर का प्लास्टर नहीं होने दे रहे हैं, उत्पात मचाए हुए हैं और ब्लैकमेल करने पर आमादा हैं। श्रीमान जी मैं कामता प्रसाद अनुवाद करके और लिखपढ़कर किसी तरह से अपना गुजारा चलाता हूँ। मेरी उम्र 53 वर्ष हो चली है और मैं अनिद्रा-अवसाद की समस्या के लिए निरंतर दवाओं पर निर्भर हूँ और मुकदमाबाजी करने की स्थिति में बिल्कुल नहीं हूँ। मेरा पूरा परिवार मेरे ही आसरे है।
श्रीमान जी, जब विक्रेता बंधुओं ने जमीन बेची है तो उन्हें पहले से ही पता था कि मैं उस पर घर बनवाऊँगा। मेरा घर उनके बाग में बना हुआ है और पैसा ऐंठने की नीयत से इस-उस बहाने से परेशान कर रहे हैं, मेरा प्लास्टर नहीं होने दे रहे हैं।
श्रीमान जी अरविंद मिश्र सुत जगदीश मिश्रा और ओमप्रकाश मिश्रा सुत राजनाथ मिश्रा सबक सिखाने की गरज़ से मुझे बनारस से भगाना चाहता है, मेरे घर के चारों तरफ गड्ढ़ा खुदवाकर पानी भरना चाहता है, देश के हर राज्य में मेरे खिलाफ मुकदमा करना चाहता है, मेरे घर के आगे की जमीन पर एसडीएम से पट्टा लेकर मेरा निकास अवरुद्ध करना चाहता है।
अतः मनुष्यता और न्याय के हक में माननीय मुख्यमंत्री जी से मेरी करबद्ध प्रार्थना है कि स्थानीय प्रशासन को निर्देश दें कि वह मेरा प्लास्टर करवाए।
प्रार्थी
सुमन तिवारी पत्नी कामता प्रसाद
वाराणसी, मोबाइल नंबर 9996865069
Email: prasad.kamta@gmail.com
दिनांकः 12 जून 2022
पृष्ठभूमि के तौर पर माननीय मुख्यमंत्री और स्थानीय पुलिस-नागरिक प्रशासन को बता दे रहा हूँ कि जिस समय मैंने बैनामा लिया और घर बनवाया उस समय कोरोना-काल चल रहा था। मेरे ठेकेदार को विक्रेता बंधुओं ने जो जगह नाप कर दी थी, असल में उस जगह से बैनामा हुआ ही नहीं था। बैनामा उस जगह से 10 फुट आगे से हुआ था। लेकिन विक्रेता बंधुओं को अपने पटीदारों-दयादों को बाग के शेष हिस्से में जाने के लिए रास्ता देना था, इसलिए उन्होंने आगे की 10 फुट जमीन छुड़वाकर मेरा घर बनवाया। विडंबना देखिए इस 10 फुट जमीन में 3 फुट मेरे हिस्से की जमीन थी, जिसे पता चलने पर मैंने घेर लिया। माननीय मुख्यमंत्री और सिविल-पुलिस प्रशासन के सूचनार्थ मेरे द्वारा दी गई सूचना का प्रत्येक शब्द सत्य और तथ्यपरक है। इसकी सत्यता की स्वतंत्र रूप से जाँच करके पुष्टि की जा सकती है, गांव वालों से इसकी तस्दीक की जा सकती है।
पुनश्च, मुझे कोर्ट-कचहरी के झंझट से मुक्ति दिलाई जाए।

प्रार्थी
कामता प्रसाद
ग्रामः गहरपुर, पोस्टः पुआरीकलां, तहसील पिंडरा, जिला वाराणसी
थानाः बड़ागाँव
मोबाइल नंबरः 9996865069

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here