बिहार—झारखंड में भारत बंद के समर्थन में रेल रोका, सड़क जाम किया

0
213
  • विशद कुमार

मजदूरों और किसानों ने सड़क जाम किया

किसान संगठनों द्वारा आहूत भारत बंद के समर्थन में सीपीएम्, भाकपा माले एवं राजद ने सयुंक्त रूप से बिहार और झारखंड के विभिन्न हिस्सों में बंद को सफल बनाने को लेकर रेल रोका, सड़क जाम किया तथा सड़क मार्च किया। बिहार में दरभंगा—लहेरियासराय में जानकी एक्सप्रेस को भाकपा (माले) के बैनर तले रोका गया। जिसमें भाकपा (माले) राज्य कमिटी सदस्य अभिषेक कुमार, जिला कमिटी सदस्य पप्पू पासवान, अखिल भारतीय किसान महासभा के जिलाध्यक्ष शिवन यादव, देवेंद्र कुमार आदि शामिल रहे। बिहार के नालंदा के इस्लामपुर, सहार, गया में सड़क जाम सहित बंद समर्थक मजदूरों व किसानों द्वारा प्रदर्शन व मार्च किया गया।

बिहार राजधानी पटना में भी बंद का व्यापक असर देखा गया। अधिकांश दुकानें व प्रतिष्ठान बंद रहे। आटो सेवायें भी बंद रहीं। दूसरी ओर तीनों कृषि कानूनों, निजीकरण व 4 श्रम कोड के खिलाफ संयुक्त किसान मोर्चा के संयुक्त आह्वान पर भारत बंद के समर्थन में अखिल भारतीय किसान महासभा, ऐक्टू सहित अन्य किसान – मजदूर संगठन से जुड़े कार्यकर्ता भी बड़ी संख्या में सड़क पर उतरे।
बन्द के दौरान दरभंगा के सिमरी थाना प्रभारी ने बन्द समर्थकों के साथ बदतमीजी की और दलित महिला प्रमिला देवी को धक्का देकर घायल कर दिया। वहीं सिंघवारा प्रखंड सचिव सुरेंद्र पासवान के साथ मारपीट की गई।

पटना के जीपीओ गोलबंर से बंद समर्थकों ने मार्च निकाल कर स्टेशन परिसर होते हुए डाकबंगला चैराहे पर पहुंचे और एक सभा में परिणत हो गए। सीपीआईएम-सीपीआई व उनसे जुड़े ट्रेड यूनियन व किसान संगठन के साथ-साथ राजद के भी लोग बंद के समर्थन में डाकबंगला चैराहा पर पहुंचे और फिर चैराहे को जाम कर दिया। वहां पर बंद समर्थकों ने सभा आयोजित की। मार्च के दौरान माले कार्यकर्ता नीतीश कुमार बिहार की जनता से माफी मांगो, डीजीपी व डीएम पर कार्रवाई करो, लोकतंत्र की हत्या बंद करो, बुद्ध की धरती को पुलिसिया राज में बदलने की साजिश मुर्दाबाद, बिहार को यूपी बनाना बंद करो, के साथ-साथ तीनों कृषि कानून व पुलिस राज अधिनियम 2021 को वापस लेने संबंधी नारे लगाते रहे।

गया जिले के डोभी में माले कार्यकर्ताओं ने जीटी रोड को जाम किया। इसके अलावे गया-कुर्था रोड, गया-खिजरसराज रोड को भी घंटो जाम रखा गया। पूर्वी चंपारण में एनएच 28 को लगभग एक घंटा जाम किया गया। जयनगर में महावीर चौक व वाटर वेज चौक जाम रहा। समस्तीपुर में एनएच 28 को माले कार्यकर्ताओं ने जाम किया। मुजफ्फरपुर में एनएच 77 को तुर्की-कुढ़नी, पूर्वी चंपारण में मोतिहारी-अरेराज रोड, सिवान में जेपी चौक, दाउदनगर में पटना-औरंगबाद रोड, अरवल में पटना-औरंगाबाद रोड व भगत सिंह चौक, बोचहां-मुजफ्फरपुर में एनएच 57, भागलपुर में सुजागंज बाजार, दरभंगा में एनएच 57 का बाजार समिति चौक, नवादा में प्रजातंत्र चौक, भागलपुर में एनएच 80 आदि सड़कों पर परिचालन पूरी तरह ठप्प रहा। सीतामढ़ी में इंसाफ मंच के कार्यकर्ताओं ने मार्च किया। मधेपुरा, बिहारशरीफ, नवादा, वैशाली, समस्तीपुर, पूर्णिया, गोपालगंज आदि जिला केंद्रों पर भी बंद समर्थकों ने मार्च किया।

झारखंड में गोमिया प्रखंड के विभिन्न बैंक संस्थाओं के कर्मचारियों और सीपीएम्, भाकपा माले एवं राजद ने सयुंक्त रूप से प्रखंड मुखयालय में विरोध मार्च निकाला।

 बोकारो में बिरसा चौक पर चंदनकियारी किसान इकाई ने अपनी मांगों को लेकर भारत बंद के समर्थन में धरना दिया।

वहीं संयुक्त किसान मोर्चा और अखिल भारतीय किसान महासभा की ओर से भारत बंद व मार्च करते हुए बगोदर बाजार में कार्यक्रम किया गया। इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से अखिल भारतीय किसान महासभा के झारखंड के प्रदेश सचिव पुरन महतो, माले के प्रखंड सचिव पवन महतो, इन्कलाबी नौजवान सभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष संदीप जयसवाल, बगोदर प्रमुख मुस्ताक अंसारी, उप प्रमुख सरीरा साल, जीप सदस्य सरीता महतो, भुनेश्वर महतो, भगीया देवी, रेशमी देवी, आशा देवी, छात्र नेता पुरन कुमार महतो ने अपने—अपने विचार रखे। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता खुबलाल महतो ने की।
बंद समथकों ने राजधानी रांची के मेन रोड पर बंद के समर्थन में मार्च किया।

राज्य के पलामू, डाल्टनगंज में बंद समर्थकों सड़क जाम किया तथा मार्च निकाला।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here