पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास के बिगड़े बोल पर बिफरे झारखंडी और कांग्रेस ने की निर्वाचन पदाधिकारी से शिकायत

27
319

विशद कुमार

जहां बिहार में विधानसभा चुनाव की सरगर्मी जोरो पर है, सभी दल वोटरों को अपने अपने अन्दाज में लुभाने में प्रयासरत हैं, वहीं झारखंड में विधानसभा को दो सीटों पर उपचुनाव हो रहा है। दुमका जहां से मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के इस्तीफा देने से खाली हुआ है और बेरमो जहां पूर्व उप मुख्यमंत्री व विधायक राजेन्द्र प्रसाद सिंह के आकस्मिक निधन से खाली हुआ है। दरअसल पिछले 2019 के विधानसभा चुनाव में तत्कालीन प्रतिपक्ष के नेता एवं झामुमो के हेमंत सोरेन दो विधानसभा क्षेत्र, बरहेट और दुमका से प्रत्याशी थे और दोनों सीट से जीत दर्ज की। बाद में उन्होंने दुमका सीट छोड़ दी। वहीं 1985 से लगातार चार बार विधायक रहे कांग्रेस के राजेन्द्र प्रसाद सिंह 2005 में भाजपा के योगेश्वर महतो ‘बाटुल’ से पराजित हो गए। लेकिन 2009 के चुनाव में वे पुनः चुनाव जीत गए। 2014 के मोदी लहर में भाजपा के बाटुल ने उन्हें पुनः पराजित कर दिया। मगर 2019 में मोदी का कोई जादू झारखंड में नहीं चला और बाटुल को बुरी तरह हार का सामना करना पड़ा और राजेन्द्र सिंह ने जीत दर्ज की। लेकिन वे इस खुशी को लंबे समय तक साथ लेकर नहीं चल पाये, उनका आकस्मिक निधन हो गया।
ऐसे में दुमका और बेरमो की सीटों पर उपचुनाव की घोषणा हुई। गठबंधन के तहत दुमका सीट झामुमो और बेरमो कांग्रेस के पाले में आया है। दुमका में जहां झामुमो ने हेमंत सोरेन के बड़े भाई बसंत सोरेन को उम्मीदवार बनाया वहीं भाजपा ने पूर्व मंत्री लुईस मरांडी को उम्मीदवार बनाया है। बेरमो में कांग्रेस ने स्व. राजेन्द्र प्रसाद सिंह के बड़े पुत्र अनुप सिंह उर्फ जयमंगल सिंह को उम्मीदवार बनाया है तथा भाजपा ने पुनः योगेश्वर महतो ‘बाटुल’ को मैदान में उतारा है।
बताते चलें कि चुनाव प्रचार के दौरान पिछले दिनों पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास बेरमो विधानसभा क्षेत्र में एक सार्वजनिक सभा को संबोधित रह रहे थे। इसी दौरान उन्होंने सभा में उपस्थित लोगों से कुछ पूछा, लेकिन जब लोगों ने चुप्पी साध ली, तो रघुवर दास ने कहा- इसी कारण ‘चोट्टा’ लोग झारखंड में राज कर रहे हैं।
जिस पर पूरे झारखंड में सोशल मीडिया से लेकर सभी नेटवर्क पर उनके इस बिगड़े बोल की आलोचना शुरू हो गई है।
रघुवर दास के इस बयान पर मंत्री बंधु तिर्की से जब मैंने प्रतिक्रिया जनता चाहा तो उन्होंने कहा कि “ऐसे बयानों के लिए रघुवर दास काफी पहले से चर्चे में रहे हैं, मुख्यमंत्री रहते हुए भी इनकी जुबान की फिसलन बरकरार रही है। ऐसे में हम यही दुआ करते हैं कि भगवान अभी भी इन्हें सुबुद्धि दे। ये एक जिम्मेवार व्यक्ति हैं, ऐसी भाषा अशोभनीय है।”
दूसरी तरफ रघुवर दास के इस बयान को गंभीरता से लेते हुए झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमिटी के कार्यकारी अध्यक्ष राजेश ठाकुर, कार्यकारी अध्यक्ष पूर्व मंत्री केशव महतो कमलेश, कार्यकारी अध्यक्ष मानस सिन्हा एवं प्रवक्ता अमुल्य नीरज खलखो ने ‘अनुमंडल पदाधिकारी सह निर्वाचन पदाधिकारी 35-बेरमो विधानसभा उपचुनाव’ से मिलकर पूर्व मुख्यमंत्री एवं भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवर दास के विरुद्ध आदर्श चुनाव आचार संहिता उल्लंघन का आरोप लगाकर लिखित शिकायत दर्ज की। शिकायत में कहा गया कि दिनांक 17 अक्टूबर 2020 दिन शनिवार पूर्वाह्न लगभग 11 बजे बोकारो जिला के जरीडीह प्रखंड अंतर्गत तीरो गांव में चुनाव प्रचार के दौरान महिलाओं के चौपाल में झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री सह भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री रघुवर दास ने महिलाओं को संबोधित करते हुए कहा कि ‘आप लोग चुप मत रहिए आपलोग चुप रहते हैं इसलिए चोट्टा लोग राज कर रहा है ‘। यह अत्यंत ही अमर्यादित एवं असंसदीय भाषा है।
झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमिटी कार्यकारी अध्यक्ष राजेश ठाकुर एवं केशव महतो कमलेश ने शिकायत दर्ज कराने के बाद कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास द्वारा अनर्गल बयानबाजी पर प्रतिक्रिया ज़ाहिर करते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी हार की घबराहट में गाली गलोज पर उतर गई है। जिस तरह की भाषा का प्रयोग पूर्व मुख्यमंत्री द्वारा किया जा रहा है उसे बेरमो की जनता क़तई बर्दाश्त नहीं करेगी।आज जिस तरह से सरकार के बारे में रघुवर दास ने महिलाओं के बीच अपशब्द का प्रयोग किया है वह निंदनीय है। उनके बयान से ये लगता है की रस्सी जल गयी पर अभी तक ऐंठन नहीं गई है ।इसी भाषा और अहंकार की वजह से पिछले चुनाव में जनता ने इन्हें और इनकी सरकार को नकारने का काम किया था, बावजूद अभी तक इनकी भाषा शैली में सुधार नहीं हुआ है।
कार्यकारी अध्यक्ष मानस सिन्हा एवं प्रवक्ता अमूल्य नीरज खलको ने कहा कि वर्तमान में झारखंड राज्य में तीन दलों ‘झारखंड मुक्ति मोर्चा-कांग्रेस-राष्ट्रीय जनता दल की सरकार है। रघुवर दास ने अपने वक्तव्य द्वारा हमारे मुख्यमंत्री एवं केबिनेट मंत्रियों के साथ साथ एक लोकतांत्रिक चुनी हुई सरकार को अपमानित किया है। पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास पूर्व में भी सत्ता के नशे में कई मौके पर खुलेआम झारखंड की जनता एवं अपने राजनीतिक विरोधियों को अपने वक्तव्य द्वारा अपमानित करने का कार्य किया है। बेरमो विधानसभा उपचुनाव में भाजपा को फिर से मुँह की खानी पड़ेगी। बेरमो विधानसभा क्षेत्र की जनता ने विगत विधानसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी एवं स्व राजेन्द्र सिंह के पक्ष में जनादेश दिया था। उपचुनाव में क्षेत्र की जनता की पूरी सहानुभूति स्व. राजेन्द्र सिंह के साथ है। उपचुनाव में अपनी निश्चित हार को जानकर भाजपा नेता उलूल-जुलूल बदजुबानी कर रहे हैं।
कांग्रेस पार्टी के नेताओं ने अनुमंडल पदाधिकारी सह निर्वाचन पदाधिकारी को वीडियो फुटेज सौंपा एवं श्री रघुवर दास के खिलाफ आदर्श आचारसंहिता के उल्लंघन के आरोप में प्राथमिकी दर्ज करने का आग्रह किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here