संस्मरण

आधुनिक भारत के निर्माता : राम प्रसाद ‘बिस्मिल’

11 जून जयंती पर विशेष "सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल मे है, देखना है ज़ोर कितना बाज़ु-ए-क़ातिल में है" भारत की आज़ादी के आंदोलन में ये...

‘उलगुलान’ यानी जल-जंगल-जमीन पर दावेदारी का संघर्ष

बिरसा मुंडा के शहादत दिवस पर विशेष विशद कुमार ''मैं केवल देह नहीं मैं जंगल का पुश्तैनी दावेदार हूँ पुश्तें और उनके दावे मरते नहीं मैं भी मर नहीं...

शहादत दिवस पर याद किए गए धरती आबा वीर बिरसा मुंडा

सुनिल पुर्ती बोकारो : झारखंड के वीर सपूत धरती आबा वीर बिरसा मुंडा की 120वीं पुण्यतिथि मंगलवार को बिरसा मुंडा समिति के तत्वावधान में बोकारो के...

गिरीश कारनाड को याद करते हुए : कुछ पल गिरीश के साथ

बात 1990 के दशक की है जब मैं प्रो.इरफान हबीब के एक आमंत्रण पर अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के इतिहास,उच्च अध्धयन केंद्र में एक माह...

Latest news

हमेशा आम जनता ही भुगतती है युद्ध का खामियाजा

युद्ध का खामियाजा हमेशा आम आदमी ही भुगतता है इंदौर। इतिहास गवाह है कि युद्ध, अंतर्राष्ट्रीय राजनीति, देशों के आर्थिक...

बड़े जोतदार जनता के मित्र नहीं हैं तो भूमि-प्रश्न अनसुलझा कैसे रह सकता है?

संपादकीय टिप्पणीः घुटे हुए और घाघ कॉमरेड्स मुझे करेक्ट करेंगे इस उम्मीद के साथ सकारात्मक ढंग से अपनी बातों को...

श्रमिकों बाजार का माल तुम्हारा है, दैत्याकार कारखाने तुम्हारे हैं

#काले धन की नयी खेप! धन कभी सफेद नहीं होता है धन श्रम शक्ति के लाल रक्त और रंगहीन पसीने से पैदा...

Must read

हमेशा आम जनता ही भुगतती है युद्ध का खामियाजा

युद्ध का खामियाजा हमेशा आम आदमी ही भुगतता है इंदौर।...

बड़े जोतदार जनता के मित्र नहीं हैं तो भूमि-प्रश्न अनसुलझा कैसे रह सकता है?

संपादकीय टिप्पणीः घुटे हुए और घाघ कॉमरेड्स मुझे करेक्ट करेंगे...