बिहार चुनाव के बाद झारखंड में दुमका-बेरमो उपचुनाव की घोषणा, 3 नवंबर को होगी वोटिंग

93
304

रांची: झारखंड में विधानसभा की दो खाली सीटों दुमका और बेरमो के उपचुनाव की घोषणा चुनाव आयोग ने कर दी है. तीन नवंबर को वोटिंग होगी और 10 नवंबर को काउंटिंग की जायेगी. चुनाव आयोग ने झारखंड की दोनों सीटों के साथ-साथ 56 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव की घोषणा की है.

बेरमो विधानसभा में 217 मतदान भवनों में कुल 356 मतदान केंद्र बनाये गये हैं. दुमका विधानसभा में कुल 286 मतदान केंद्रों पर वोट डाले जायेंगे. बेरमो विधानसभा उपचुनाव में 1200 बैलेट यूनिट, 1100 कंट्रोल यूनिट और 1100 वीवीपैट का प्रयोग किया जायेगा.

दुमका विधानसभा उपचुनाव में 1100 बैलेट यूनिट, 950 कंट्रोल यूनिट और 950 वीवीपैट का उपयोग होगा. आपको बता दें कि दुमका विधानसभा सीट मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के जनवरी में छोड़ने और बेरमो विधानसभा सीट पूर्व मंत्री राजेंद्र सिंह के निधन के कारण जून में रिक्त हुई थी. हेमंत सोरेन ने बरहेट और दुमका विधानसभा क्षेत्र से चुनाव जीता था.

कोरोना के साये में राज्य की दो सीटों पर उपचुनाव होने हैं. इस दौरान कोरोना गाइडलाइन से सख्ती से पालन कर चुनाव कराया जायेगा. आज चुनाव आयोग ने चुनाव की तारीखों की घोषणा कर दी है. 3 नवंबर को मतदान व 10 नवंबर को मतगणना की जायेगी. झारखंड की दुमका व बेरमो विधानसभा सीट पर उपचुनाव को लेकर नामांकन की आखिरी तारीख 16 अक्टूबर है. 9 अक्टूबर से 16 अक्टूबर तक नामांकन किया जा सकेगा. 17 अक्टूबर को स्क्रूटनी की जायेगी. 19 अक्टूबर तक प्रत्याशी नाम वापस ले सकते हैं. तीन नवंबर को दुमका व बेरमो विधानसभा उपचुनाव को लेकर वोटिंग होगी. 10 नवंबर को वोटों की गिनती की जायेगी.

झारखंड की दुमका और बेरमो विधानसभा सीट पर जब 2019 में चुनाव हुए थे, तो दुमका सीट पर झारखंड मुक्ति मोर्चा के उम्मीदवार हेमंत सोरेन की जीत हुई थी, जबकि बेरमो विधानसभा सीट पर कांग्रेस के प्रत्याशी राजेंद्र प्रसाद सिंह ने जीत दर्ज की थी.

हेमंत सोरेन ने दुमका के साथ-साथ बरहेट सीट से भी चुनाव लड़ा था और दोनों ही सीटों से उन्होंने जीता था. इसके बाद हेमंत सोरेन ने दुमका सीट छोड़ दी थी. इस कारण ये सीट खाली हुई है. कांग्रेस के राजेंद्र प्रसाद सिंह के निधन के कारण बेरमो सीट खाली हो गयी है. इन्हीं दोनों सीटों पर उपचुनाव की तारीख की घोषणा की गयी है.

दुमका में झामुमो की प्रतिष्ठा दांव पर है. वह जीत के लिए हर मुमकिन कोशिश करेगा. पिछले चुनाव में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने इस सीट पर जीत दर्ज की थी. बरहेट व दुमका सीट से जीतने के कारण मुख्यमंत्री ने दुमका सीट छोड़ दी थी.

बेरमो सीट से कांग्रेस नेता राजेंद्र प्रसाद सिंह ने जीत दर्ज की थी. असामयिक निधन के कारण ये सीट खाली हुई है. यहां भी कांग्रेस अपनी सीट बचाने के लिए पूरी कोशिश करेगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here