Most recent articles by:

admin

समाजी तब्दीली की बयार की वाहक काशी के लेनिन की वामांगी श्रुति नागवंशी

मानव अधिकारों की एक ऐसी प्रबल पक्षधर, जिन्होंने अपना पूरा जीवन भारत के पददलितों, वंचितों और उपेक्षितों के उत्थान के लिए झोंक दिया है।...

तब भी मार्क्स ने क्रांति के नये संस्करण की पटकथा लिखना नहीं छोड़ा था!

जब क्रांतियां मार्क्स की आंखों के सामने एक एक कर 'पराजित' हो चुकी थी! जब मार्क्स का अपना कोई देश नहीं था अपना कोई घर नहीं था उनकी...

Must read

प्रैग्मेटिक स्त्री-पुरुष और उनके बीच के प्रेम पर चंद बातें

प्रेम न हाट बिकाए! प्रेम संबंधों को लेकर इन दिनों...