Most recent articles by:

admin

प्रलेस के श्याम सुंदर और सुनील की कविताएं

छिपकली प्रकाश की लालच लिए आते हैं कीड़े समझ अपनी जिंदगी की सुबह हो जाते हैं उतारु मर - मिटने को नहीं लेते सबक देखकर अपने अतीत को नहीं देख पाते...

गोर्की ने किया था गोदी मज़दूर, रसोइया, अर्दली, कुली, माली, सड़क कूटने वाले मज़दूर तक का काम

एक सच्चा सर्वहारा लेखक - मक्सिम गोर्की दुनिया में ऐसे लेखकों की कमी नहीं, जिन्हें पढ़ाई-लिखाई का मौक़ा मिला, पुस्तकालय मिला, शान्त वातावरण मिला,...

Must read

आज के दौर में गांधी विचार और दर्शन की प्रासंगिकता अधिक: डॉ. मोहम्मद आरिफ

  स्वामी विवेकानंद जी की जयंती 12 जनवरी राष्ट्रीय युवा...

देश को काॅर्पोरेट हिंदुत्व गठजोड़ की फांसीवादी परियोजना से बचाने को एकजुट होने का आह्वान

  2022 का संकल्प। लोकतांत्रिक भारत को काॅरपोरेट हिंदुत्व गठजोड़ की...