युवाओं को अधिकारों के साथ ही कर्तव्यों को भी समझना होगा: वल्लभाचार्य पाण्डेय

0
27
चौबेपुर, वाराणसी : सामाजिक संस्था आशा ट्रस्ट के तत्वावधान में भंदहा कला ग्राम स्थित प्रशिक्षण केंद्र पर आयोजित युवाओं का दो दिवसीय प्रशिक्षण शिविर रविवार को सम्पन्न हुआ. सभी प्रतिभागियों को प्रमाणपत्र प्रदान किये गये. शिविर में पूर्वांचल के 5 जिलों के कुल 35 प्रतिभागी सम्मिलित हुए.
आशा ट्रस्ट द्वारा आयोजित दो दिवसीय प्रशिक्षण शिविर में 35 युवाओं ने जन अधिकारों को समझा
शिविर के अंतिम दिन प्रमुख रूप से जन हित के अधिकारों के व्यापक प्रचार प्रसार और प्रयोग करने पर बल दिया गया. वरिष्ठ सामाजिक कार्यकर्ता अरविन्द मूर्ति ने कहा कि सूचना का अधिकार, शिक्षा का अधिकार और भूमि अधिग्रहण जैसे कानून की समझ्न विकसित करना जरूरी है तभी हम समाज में इन मुद्दों पर मजबूती से काम कर पायेंगे.
सामाजिक कार्यकर्ता राजकुमार गुप्ता ने जनहित से जुडी समस्याओं और सुझावों को सम्बन्धित विभागों और अधिकारियों तक त्वरित और प्रभावी ढंग से पहुँचाने के लिए डिजिटल माध्यमो का प्रयोग करने पर जोर देते हुए कहा कि सोशल मीडिया जैसे त्वीत्र, वाट्सेप, इन्स्टाग्राम आदि के माध्यम से हम अपनी बात तत्काल सक्षम और जिम्मेदार अधिकारियों तक पहुंचा सकते हैं साथ में जन सुनवाई पोर्टल, विभिन्न विभागों के एप के माध्मय से भी शिकायतों का त्वरित निस्तारण संभव है.
आशा ट्रस्ट के समवयक वल्लभाचार्य पाण्डेय ने कहा कि आज युवा पीढ़ी दिग्भ्रमित है उनकी समाज के प्रति कुछ कर्तव्य और जिम्मेदारियां है जिनका निर्वहन करने के लिए उन्हें अपने अधिकारों के साथ साथ कर्तव्यों को भी समझना पड़ेगा, इसी उद्देश्य से ऐसे प्रशिक्षणों का आयोजन किया जा रहा है जिसको अन्य क्षेत्रों में भी बढ़ाने की जरूरत होगी.
कार्यक्रम में विनय कुमार जायसवाल, विजय शंकर यादव, मनोज यादव, शकील अहमद,  जागृति राही, राजकुमार पटेल, नीलम पटेल, महेंद्र राठोर, डॉ अनूप श्रमिक,  सूरज, प्रदीप सिंह आदि का विशेष योगदान रहा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here