ऐपवा ने कोविड-19 से सम्बंधित अपनी मांगों और सुझावों के साथ उत्तर प्रदेश के जिलाधिकारियों के नाम पत्र लिखा

0
663

 ऐपवा वाराणसी कमेटी ने जिलाधिकारी वाराणसी के नाम खुला पत्र प्रेषित किया जिसे ईमेल के माध्यम से भेजा गया

अख़िल भारतीय प्रगतिशील महिला एसोसिएशन(ऐपवा) वाराणसी।
——————————————————-
सेवा में,                              19 अप्रैल, 2021
जिलाधिकारी,
वाराणसी,
उत्तर प्रदेश।
विषय: कोरोना के मरीजों के उचित उपचार हेतु सुझाव सम्बन्धी पत्रक।
महोदय,
इस पत्रक के  माध्यम से हम  आपका ध्यान अपने जिले  में कोरोना के कारण चिंताजनक ढंग से हो रही मौतों एवं मेडिकल अव्यवस्था की ओर दिलाना चाहते हैं। साथ ही इस विषम परिस्थिति में कोरोना के उपचार  सम्बन्धी मांगों के साथ कुछ सुझाव भी आपके समक्ष रखना चाहते हैं। हम आशा करते है कि आप हमारी मांगो और सुझावों को संज्ञान में लेंगे।
हमारी मांगे और सुझाव:-
1. कोरोना मरीजों  को अस्पताल में बेड और डॉक्टर की कमी महसूस हो रही है।  जिले के सरकारी और प्राइवेट दोनों ही अस्पतालों में  पर्याप्त बेड उपलब्ध नहीं है। हमारा सुझाव है कि  जिले के होटल, स्टेडियम और स्कूलों को उचित सेनेटाइजेशन के साथ  कोरोना मरीजों   के लिए  उपलब्ध कराया जाए। निकटवर्ती राज्यों / जिलों से  प्रशिक्षित डॉक्टरों   एवं स्वास्थ्यकर्मियों की एक टीम कोरोना मरीजों के इलाज के लिए बुलाई जाए।
2. कोरोना मरीजों कें लिये आक्सीजन सिलेंडर और वेंटिलेटर की कमी को अतिशीघ्र पूरा किया जाए।
3. कोरोना मरीजों  को अस्पताल पहुंचाने के लिए एम्बुलेंस की संख्या की कमी महसूस की जा रही है। हम मांग करते है कि शहर में कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए एम्बुलेंस की संख्या यथाशीघ्र बढ़ाई जाए और आवश्यकता पड़ने पर निजी वाहनों को भी एम्बुलेंस के रूप में प्रयोग में लाया जाए।
4. कोरोना मेडिकलकिट की दवाएं बाजार में आसानी से उपलब्ध नहीं हो पा रही हैं । इस समस्या के निदान हेतु उचित कदम उठाएं जाए जिससे कोरोना मरीजों को उनके घर तक दवाएं आसानी से उपब्ध कराई जा सकें।
5. परिवार के सभी सदस्य कोरोना से संक्रमित हो जाने के कारण भोजन का भारी संकट झेल रहे है । हमारा सुझाव है कि जिला प्रशासन, सामाजिक कार्यकर्ताओं और  स्वयं सेवी संस्थाओं के साथ मिलकर प्रत्येक मुहल्लों में  सामुदायिक भोजन सेवा तत्काल शुरू करे जिससे कोरोना संक्रमित परिवारों के लिए सस्ते, सुलभ पौष्टिक आहार की गांरन्टी की जा सके।
6. कोरोना महामारी से  निदान के लिए जिला स्तर पर सामाजिक कार्यकर्ताओं, नागरिक समाज, स्वयं सेवी संस्थाओं और अन्य राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ  एक बैठक तत्काल बुलाई जाने की हम मांग करते हैं।
आशा है आप हमारे सुझावों और मांगो पर गौर कर उचित कार्रवाई की आदेश देंगे।
भवदीय,
कृष्णा अधिकारी  (प्रदेश अध्यक्ष)
कुसुम वर्मा  (प्रदेश सचिव)
स्मिता बागड़े (जिला सचिव)
सुतपा गुप्ता (जिला अध्यक्ष)
सुजाता भट्टाचार्य ( जिला, सह सचिव)
विभा प्रभाकर ( जिला, अध्यक्ष)
विभा वाही
डॉ नूरफतिमा
डॉ मुनीज़ा रफीक़ खान ( गांधी स्टडीज सेंटर, राजघाट)
आख़िल भारतीय प्रगतिशील महिला एसोसिएशन(ऐपवा)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here