एसिड पीड़िताओं ने जाना ऑनलाइन कैसे पीएम-सीएम तक पहुंचाएं अपनी शि‍कायतें और सुझाव

1
210

सरल और सुविधाजनक तरीके से बिना भागदौड़ किये विभिन्न विभागों में घर बैठे स्मार्टफोन, लैपटॉप, टैबलेट द्वारा ऑनलाइन शिकायत का तरीका

वाराणसी। 02 जुलाई 2020 गुरुवार, डिजिटलीकरण से परिचित कराने के लिए तीन दिवसीय कार्यशाला का आयोजन हुआ। प्रशिक्षण कार्यशाला के पहले दिन पीजी, आईजीआरएस, आरटीआई एवं सरकारी जन पोर्टलों की जानकारी के साथ ही ट्रेनिंग दी गयी।

आशा ट्रस्ट और रेड ब्रिगेड ट्रस्ट के संयुक्त तत्वाधान में गुरुवार को जन अधिकार के लिए संघर्ष करने वाले पूर्वांचल के एसिड पीड़िताओं, सक्रिय सामाजिक कार्यकर्ताओं एवं जन संगठनों का शहर के दुर्गाकुंड स्थित देश के पहले एसिड पीड़िताओं के स्वामित्व में संचालित आरेंज कैफे में सार्वजनिक जीवन में मानव के अधिकार एवं महिला, बच्चों, वंचित समुदाय के अधिकार पर प्रशिक्षण में पेपर लेस यानी ऑनलाइन शिकायत व सुझाव विभिन्न पोर्टलों, वेबसाइटों के माध्यम से कैसे घर बैठे किया जाए यहां प्रशिक्षकों ने इसकी विस्तार से जानकारी दी।

इस कार्यशाला में भाग ले रहें लोगों को बताया गया कि आप कैसे घर बैठे अपनी शिकायत और सुझाव पीएम से लेकर सीएम तक पहुंचा सकते हैं।

इससे उन्‍हें अपनी समस्या की शिकायत व सुझाव के लिए सरकारी दफ्तरों के चक्कर नहीं काटने होंगे। पेपरलेस सिस्टम के तहत सभी विभागों की ऑनलाइन शिकायतें घर बैठे स्मार्टफोन मोबाइल, लैपटॉप, टैबलेट, कम्प्यूटर के जरिए दर्ज कराई जा सकती है।

घर बैठे कैसे करे आनलाइन पेपरलेस शिकायत सुझाव पीजी- आईजीआरएस पोर्टल, पीएम से लेकर सीएम दफ्तर तक में भेज सकेंगे शिकायत सुझाव

बतौर प्रशिक्षक सामाजिक कार्यकर्ता राजकुमार गुप्ता ने प्रशिक्षण के दौरान कहा कि अपनी समस्या की शिकायत व सुझाव के लिए सरकारी दफ्तरों के चक्कर नहीं काटने होंगे। घर बैठे ही ब्लॉक, जिला नहीं बल्कि पीएम और सीएम के दफ्तर तक में शिकायत कैसे कर सकेंगे। साथ ही इन शिकायतों का निस्तारण भी जल्द होता है। क्योंकि प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री कार्यालय से सीधे इन शिकायतों की निगरानी की जाती है इसके लिए समंवित केन्द्रीयकृत लोक शिकायत प्रणाली (पीजी पोर्टल) व समन्वित शिकायत निवारण प्रणाली (आईजीआरएस) जनसुनवाई का विकास किया गया है। पेपरलेस सिस्टम के तहत सभी विभागों की ऑनलाइन शिकायतें घर बैठे स्मार्टफोन मोबाइल, लैपटॉप, टैबलेट, कम्प्यूटर के जरिए दर्ज कराई जा सकती है। हर जानकारी की सूचना आएगी मोबाइल पर। प्रशिक्षण शिविर का संचालन करते हुए रेड ब्रिगेड ट्रस्ट के प्रमुख अजय पटेल ने कहा कि शिविर पहले दिन अत्यंत सार्थक रहा यह प्रयास कई जिले से आये सामाजिक कार्यकर्ताओं को जनहित के विभिन्न अधिकारों को जानने और उसका सटीक प्रयोग करने के लिए उचित मार्गदर्शन देने में सफल रहा।
उक्त प्रशिक्षण कार्यशाला शिविर का उद्घाटन एसिड पीड़िता बादामा देवी ने फिता काटकर किया इस दौरान अजय पटेल, राजकुमार गुप्ता, वाराणसी से बदामा देवी, सुमन कुमारी, आशा देवी, मऊ से नग्मे इरम खान, इलाहाबाद से संगीता देवी, गाजीपुर से प्रियंका भारती, प्रीति सरोज आदि लोग शामिल रहे।

रिपोर्ट, राजकुमार गुप्ता, वाराणसी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here