जिले में कोई भी व्यक्ति भूखा ना रहे, इसके लिए जरूरी कदम उठाए गए

5
240

बोकारो से विशद कुमार की रिपोर्ट

उपायुक्त, बोकारो श्री मुकेश कुमार के दिशा निर्देश पर बोकारो जिले के जरूरतमंद लोगों को लॉक डाउन के दौरान हर रोज मुफ्त में भोजन कराने की पहल की जा रही है ताकि इस वैश्विक महामारी कोविड-19 के दौरान जिले में कोई भी व्यक्ति भूखा ना रहे। उपायुक्त ने बताया कि प्रतिदिन मुख्यमंत्री दीदी किचन के 371 केंद्रों के माध्यम से माध्यम से 508837 लोगों को, मुख्यमंत्री दाल भात केंद्र के 107 केंद्रों के माध्यम से 23600 लोगों को तथा पुलिस कम्युनिटी किचन के 11 केंद्रों के माध्यम से 1150 लोगों को मुफ्त में भोजन कराने की पहल बोकारो जिला में की जा रही है। प्रतिदिन लगभग 5.50 लाख जरूरतमंद लोगों को खाना खिलाने की पहल बोकारो जिला प्रशासन की ओर से की जा रही है। इसके अलावे सद्भावना किचन के माध्यम से शहरी तथा सेल के टाउनशिप क्षेत्रों में भी लोगों को प्रतिदिन भोजन उपलब्ध कराने की पहल लगातार की जा रही है। उन्होंने बताया कि मानव सेवा भाव के साथ-साथ बेजुबान जानवरों को बचाने हेतु प्रतिदिन जानवरों के लिए कस्तूरबा आवासीय विद्यालय, चास में 1500 रोटी बनाने की पहल की जा रही है।

जिला आपूर्ति पदाधिकारी श्री सादात अनवर ने बताया कि लॉक डाउन के बाद जिला आपूर्ति कार्यालय की ओर से उपायुक्त महोदय के निर्देश पर सभी लाभुकों के बीच राशन डीलरों के माध्यम से राशन वितरण का कार्य किया लगातार किया जा रहा है। साथ ही मुख्यमंत्री दीदी किचन और मुख्यमंत्री दाल भात केंद्रों पर जरूरतमंद लोगों को मुफ्त में भोजन कराने हेतु राशन की उपलब्धता प्रतिदिन सुनिश्चित करने की पहल की जा रही है ताकि जिले के जरूरतमंद लोगों को अच्छे तरीके से भोजन कराने की पहल लॉक डाउन के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन करते हुए कराया जा सके।

पुलिस उपाधीक्षक, मुख्यालय श्री सतीश चंद्र झा ने बताया कि पुलिस कम्युनिटी किचन के माध्यम हरला थाना, सेक्टर 12 थाना, चंदनकियारी थाना, भोजूडीह थाना, जारीडीह थाना आदि कुल नौ केंद्रों पर प्रतिदिन 1150 जरूरतमंद लोगों को खाना खिलाने की पहल की जा रही है।

उपायुक्त श्री मुकेश कुमार ने बोकारो जिला के सभी मुखिया से कहा है कि बोकारो जिला को कोविड-19 के संक्रमण से मुक्त कराने में जिले के सभी मुखिया गण की अहम भूमिका है। ग्राम तथा पंचायतों में जितनी भी गतिविधियां कोविड-19 के संक्रमण से बचाव हेतु जिला प्रशासन द्वारा की जा रही है उसमें मुखिया गण का काफी सहयोग जिला प्रशासन को मिल रहा है। बोकारो जिला लगभग पूरी तरह से कोविड-19 के संक्रमण से मुक्त होने की दिशा में अग्रसर है। सभी मुखिया गण के ऊपर एक बड़ी जिम्मेवारी आने वाले दिनों में जिला प्रशासन की ओर से दी जाएगी ताकि जिले को पूरी तरह से कोविड-19 के संक्रमण से बचाया जा सके।
उन्होंने कहा कि लॉक डाउन खत्म होने के बाद जिले में बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूर अपने घरों को वापस लौटेंगे अतः आप सभी मुखिया गण इस दौरान सचेत होकर हर आने-जाने वाले व्यक्ति की रिपोर्ट जिला प्रशासन को उपलब्ध कराने में पहल करेंगे। आप सभी मुखिया जिले में कोविड-19 के खिलाफ एक सच्चे सिपाही के रूप में खड़े हैं उपायुक्त ने अपील किया है कि जो भी व्यक्ति आपके क्षेत्र में बाहर से प्रवेश करता है उसकी सूचना अवश्य जिला प्रशासन को देने का पहल करें ताकि उक्त व्यक्ति पर जिला प्रशासन की ओर से पैनी नजर रखी जा सके। जो भी व्यक्ति बाहर से गांव या पंचायत में प्रवेश करता है उन सभी की सूचना मुखिया गण जिला नियंत्रण कक्ष को तथा प्रखंड विकास पदाधिकारी को अवश्य बताएं।

उपायुक्त श्री मुकेश कुमार के दिशा निर्देश पर बोकारो जिले के जरूरतमंद लोगों को लॉक डाउन के दौरान हर रोज मुफ्त में भोजन कराया जा रहा है ताकि इस वैश्विक महामारी कोविड-19 के दौरान जिले में कोई भी व्यक्ति भूखा ना रहे। उपायुक्त ने बताया कि प्रतिदिन मुख्यमंत्री दीदी किचन के 380 केंद्रों, मुख्यमंत्री दाल भात के 107 केंद्रों तथा पुलिस कम्युनिटी किचन के 11 केंद्रों के माध्यम से जरूरतमंदों के बीच भोजन कराया जा रहा है। इसके अलावे सद्भावना किचन के माध्यम से शहरी तथा सेल के टाउनशिप क्षेत्रों में भी लोगों को प्रतिदिन भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है। उन्होंने बताया कि मानव सेवा भाव के साथ-साथ बेजुबान जानवरों को बचाने हेतु प्रतिदिन जानवरों के लिए कस्तूरबा आवासीय विद्यालय, चास में हजारों रोटी बनाकर खिलाया जा रहा है।

जिला आपूर्ति पदाधिकारी श्री सादात अनवर ने बताया कि लॉक डाउन के बाद जिला आपूर्ति कार्यालय की ओर से उपायुक्त महोदय के निर्देश पर सभी लाभुकों के बीच राशन डीलरों के माध्यम से राशन वितरण का कार्य किया लगातार किया जा रहा है। साथ ही मुख्यमंत्री दीदी किचन और मुख्यमंत्री दाल भात केंद्रों पर जरूरतमंद लोगों को मुफ्त में भोजन कराने हेतु राशन की उपलब्धता प्रतिदिन सुनिश्चित की जा रही है ताकि जिले के जरूरतमंद लोगों को अच्छे तरीके लॉक डाउन के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन करते हुए भोजन कराया जा सके। अधिकारी भी अपने स्तर से जरूरतमंदों तक पहुंच सूखा राशन वितरित कर रहे हैं।

पुलिस उपाधीक्षक पुलिस मुख्यालय श्री सतीश चंद्र झा ने बताया कि पुलिस कम्युनिटी किचन के माध्यम हरला थाना, सेक्टर 12 थाना, चंदनकियारी थाना, भोजूडीह थाना, जारीडीह थाना आदि कुल नौ केंद्रों पर प्रतिदिन 11500 जरूरतमंद लोगों को खाना खिलाने की पहल की जा रही है।

उप विकास आयुक्त श्री रविरंजन मिश्रा द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण एवं बाबा साहेब आंबेडकर आवास योजना की समीक्षा अपने कार्यालय कक्ष में किया गया।

बोकारो जिला की प्रगति में रामगढ़ के बाद दुसरे पायदान पर-
वित्तीय वर्ष 2019-20 में 15000 लक्ष्य के विरुद्ध 8985 आवास पूर्णकर लिया गया है एवं राज्य में सर्वाधिक आवास पूर्ण कर दिया गया है। बोकारो जिला की प्रगति प्रतिशत में रामगढ़ के बाद दुसरे पायदान पर है। वित्तीय वर्ष 2016-17, 2017-18 एवं 2018-19 में लक्ष्य 25660 के विरुद्ध 24639 आवास पूर्ण कर लिया गया है एवं शेष आवास को पूर्णता तीव्रगति से की जा रही है।
वहीं बाबा साहेब अंबेडकर आवास योजना की प्रगति वित्तीय वर्ष 2019 में बोकारो जिला प्रथम पायदान पर है।

प्रखंड समन्वयक को 1 सप्ताह के अंदर अपेक्षित प्रगति का निर्देश दिया-
उप विकास आयुक्त श्री रवि रंजन मिश्रा ने चास, चंदनक्यारी एवं पेटरवार प्रखंड की प्रगति धीमी पाई गई जिस पर उप विकास आयुक्त ने खेद जताया। उन्होंने संबंधित प्रखंड समन्वयक को 1 सप्ताह के अंदर अपेक्षित प्रगति का निर्देश दिया गया एवं सभी प्रखंड को सर्वाधिक प्रगति करते हुए प्रतिवेदन से अवगत कराने को कहा गया। वित्तीय वर्ष 2019 के लंबित आवासों में लगभग 6000 लंबित है।

उप विकास आयुक्त श्री रवि रंजन मिश्रा ने सभी प्रखंडों के प्रखंड समन्वयक को निदेश दिया कि इस कोरोना महामारी के दौरान लगभग 10000 मजदूरो/लाभुको को काम देने को कहा है।

बैठक के दौरान श्री रूपेश तिवारी परियोजना पदाधिकारी सहित सभी प्रखंड समन्वयक एवं जिला समन्वयक उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here