लॉकडाउन 2 के दौरान वंचितों की मदद करते राजातालाब के युवा

3
322

वाराणसी: रोहनियां, राजातालाब के युवा, व्यापारी और छात्र पूरे दिल से राजातालाब के आसपास के गांवों में जरूरतमंदों, वंचित समुदायों की सेवा कर रहे हैं और उन्हें पके हुए भोजन के पैकेट और बिना पके राशन(कच्चा अनाज) विगत तीन दिनों से प्रदान कर रहे हैं।

राजातालाब के आसपास स्थानीय आबादी की कठिनाइयों को देखते हुए, यहां के निवासियों के एक समूह ने वितरण के लिए पके हुए भोजन पैकेट तैयार करने के लिए एक स्वयंसेवक समूह बनाया। इस स्वयंसेवक समूह, जिसमें युवा, व्यापारी और छात्र शामिल थे, ने शुरुआती कुछ दिनों में लगभग 100 पैकेट वितरित किए। जैसे जैसे और लोगों को इन प्रयासों के बारे में पता चला, विभिन्न समुदाय और यहां के व्यापारी, युवा और छात्र, समूह के प्रयासों को पूरा करने के लिए कच्चा माल और धन मुहैया कराने के प्रयासों में शामिल हो गए। इसके स्थानीय पुलिस प्रशासन ने भी पहल के लिए अपना समर्थन दिया। परिणामस्वरूप वितरित किए गए खाद्य पैकेटों की संख्या में पर्याप्त वृद्धि हुई और यह प्रति दिन 200 पैकेट तक पहुंच गया।

पके हुए भोजन के वितरण के दौरान, वितरण टीम के सदस्यों ने वंचित समुदायों में व्यक्तियों के साथ बातचीत की और प्राप्त प्रतिक्रिया के आधार पर, यह निर्णय लिया गया कि प्रवासी, दिहाड़ी, श्रमिकों और अन्य जरूरतमंद व्यक्तियों को पके भोजन प्रदान करना उनकी अल्प आय को पूरा करने के लिए सबसे अच्छा है। इस गतिविधि को एक सप्ताह भोजन पैकेटों की सेवा दिया जायेगा। ये प्रयास कम से कम लॉकडाउन के अंत तक जारी रहेंगे।

इसी के तहत तीसरे दिन सोमवार को कचनार उसरापट्टी, जोगापुर आदि गांवों के सैकड़ों जरुरतमंदों को पके भोजन के पैकेट वितरण किया गया। इस दौरान उमेश चौहान, विनोद पटेल, संजय पटेल, अजय पटेल, सूरज शर्मा, नागेंद्र पटेल, राजू, सुषमा, ओमकार, अंकिता, शुभम, गुंजा, संतोष, मनोज पटेल, राजकुमार गुप्ता आदि लोगों ने सहयोग दिया। रिपोर्ट राजकुमार गुप्ता वाराणसी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here