पैनी नजर और तेज लेखनी के साथ सेवा कर रहे हैं कोरोना योद्धा

2
308

वाराणसी: कोरोना वायरस से जंग जीतने में पूरी दुनिया जी जान से लगी हुई है। एक तरफ जहां चिकित्सक सफाई कर्मी व पुलिस लोगों की मदद कर रहे हैं ऐसे में पत्रकार अपनी पैनी नजर व तेज लेखनी से लोगों की सेवा में लगे हुए हैं। ऐसी ही कुछ वैश्विक महामारी के संकट के समय मिसाल पेश की है पत्रकार और समाजसेवी द्वय प्रणय कुमार सिंह और राजकुमार गुप्ता ने। दोनों लोग जहां सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से लोगों को संक्रमण से बचाव को जागरूक कर रहे हैं वहीं जगह-जगह पहुंचकर लोगों के लिए राहत सामग्री भी भेंट कर रहे हैं। हालिया घटनाक्रम में एक गुरुकुल में 20 बच्चों के फंसे होने की जानकारी जब प्रणय सिंह को मिली तो उन्होंने खुद जाकर बटुको से हालचाल पूछा और समाजसेवियों को भी इसकी इत्तला की। वही राजकुमार गुप्ता ने इस मामले को उत्तर प्रदेश सरकार सहित जिम्मेदार विभाग तक पहुंचाया। नतीजा यह रहा कि 24 घंटे के अंदर समाजसेवी व रोहनिया के विधायक सुरेंद्र नारायण सिंह, भदवर ग्राम के ग्राम प्रधान प्रतिनिधि उदय भान सिंह उर्फ उदल, काशी विद्यापीठ के खंड विकास अधिकारी के निर्देश पर ग्राम विकास अधिकारी भिखारीपुर रामधीन दास गुरुकुल डीएलडब्ल्यू चितईपुर पहुंचे और बटुकों को खाद्य सामग्री देकर मदद की। साथ ही उक्त समाजसेवी मीडिया कर्मियों को इस ओर ध्यान आकृष्ट कराने के लिए धन्यवाद भी दिया।

पिछले दिनों भारत सरकार ने भी मीडिया कर्मियों को कोरोना से संग्राम का अग्रिम योद्धा बताया था।

फिलहाल पत्रकार हमेशा सजग रहकर समाज के लिए ही लड़ता है और तत्पर रहता है। सुंदर समाज और स्वस्थ, सुरक्षित लोग ही उसकी सेवा की पूँजी हैं।

रिपोर्ट राजकुमार गुप्ता वाराणसी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here