2500 कोरोना पॉज़िटिव केस में 350 मुस्लिम बाकी इंसान पॉज़िटिव हैं

5
273

Faiq Ateeq Kidwai
सबसे पहले ऐसे व्यक्तियों से दूरी बनाइये
मैंने मुस्लिमो NRC CAA NPR पर साथ दिया लेकिन मुस्लिमो की इन हरकतों पर साथ नही दे सकता
जवाब- तुमने मुस्लिमो का क्यो साथ दिया? तुम्हे तो सही गलत का साथ देना चाहिए, मान लो तुम्हे NRC गलत लगता है तो तुम उसके विरुद्ध जाते न कि मुस्लिमो का साथ देने।
मैंने बहुत साथ दिया मुस्लिमो का लेकिन अब मुस्लिमो के प्रति मेरा मन भी खट्टा हो गया
जवाब- तुम्हारा मन पहले से खट्टा था लेकिन तुम्हे खुद को भीड़ से अलग दिखाना था
मुस्लिम इंटेलेक्चुअल लोगो को खुलकर विरोध करना चाहिए।
जवाब- 70न्यूज़ चैनल्स दिन रात यही ख़बर दिखा रहे, हत्ता की कोरोना को जिहाद से जोड़ दिया, सभी अखबारो के फ्रंट पेज पर आया, वो थूक वाली साल भर पुरानी वीडियो, को लाखों के ऊपर पढ़े लिखे लोगो ने शेयर किया गया, सारे व्हाट्सप ग्रुप्स में दिन रात ऐसे ही मैसेज की भरमार रही, अब बता दो कितना और विरोध चाहते हो?
यही सब वजह से लोग मुस्लिमो से नफरत करते है
जवाब- नफरत के लिए वजह नही होती, नफरत आपके खुद भीतर होती है उसे बस एक बहाना चाहिए होता है, सारे दलितों से नफरत क्यो हो गई थी? क्यो शुंग के समय सभी बौद्धों से नफरत हो गई थी?? क्यो 84 में सभी सिखों से नफरत हो गई थी? जानते है क्यो क्योंकि आपको सिर्फ बहाना चाहिए था
क्यो मुस्लिम ही हर चीज़ का विरोध करता है, ज़रूरी नही हर चीज़ गलत हो
क्यो आप ही हर चीज़ का समर्थन करते है, ज़रूरी नही हर चीज़ सही हो
मुस्लिमो ने पोलियो ड्राप का भी विरोध किया था???
पोलियो का विरोध गरीबो ने किया और इस देश से पोलियो पुरानी चेचक कैसे गायब हो गई, धर्म के आधार पर विकलांग का रेशियो क्या है
मुस्लिम शिक्षा में पिछड़े है,
मुस्लिम का लिट्रेसी रेट 57 और आपका 63 यानी महज़ 6 प्रतिशत ज़्यादा होने पर बार बार आप शिक्षा में पिछड़े बोलते है, और ईसाई 74 से 11 प्रतिशत कम है लेकिन ईसाई आपको इस बात का ताना नही देते, अन्य तो महज 50 है उन्हें कभी ताना नही दिया
मुस्लिम महिलाएं शिक्षा में पीछे है
मुस्लिम महिलाएं 51 प्रतिशत शिक्षित है और आप 55 यानी महज़ 4 प्रतिशत आगे जबकि ईसाई 71 फिर किस तरह आसानी से ऐसा बोल लेते है
मुस्लिम लोग औरत और मर्द में भेदभाव करते है
मुस्लिम मर्द 57 प्रतिशत शिक्षित है और मुस्लिम महिलाएं 51 यानी 6 प्रतिशत का अंतर जबकि आपने 8 प्रतिशत का अंतर कर रखा है तो भेदभाव कौन कर रहा है।
मुस्लिम जनसँख्या बढ़ाते है
57 मुस्लिम मुल्कों में जनसँख्या की समस्या कितने मुस्लिम मुल्क में है??? जनसँख्या तो पाकिस्तान बंग्लादेश और भारत की असली समस्या है और तीनों एक ही भूखंड से अलग हुए है, इसका अर्थ है कि ये समस्या गरीबी से जुड़ी है।
हिंदुस्तान में मुस्लिम का फर्टिलिटी रेट अगर हिन्दुओ से ज़्यादा है तो मुस्लिमो में फर्टिलिटी रेट की गिरावट भी हिन्दुओ से ज़्यादा है, यानी वो सुधार आपसे ज़्यादा कर रहें है
मुस्लिम साफ सफाई नहीं रखते
आपको पता है अरब में पानी बहुत महंगा है लेकिन साफ सफाई के लिए पानी के कुल इस्तेमाल में वो प्रति व्यक्ति सबसे आगे है, किसी भी अरबी के पास से पसीने की ज़रा सी बदबू नही आएगी, समस्या सिर्फ गरीबी है
आप मुस्लिमो का बचाव बहुत कर रहे है
आप आलोचना भी तो बहुत कर रहे है
लेकिन आप लोग आलोचना क्यो नही करते
करेंगे लेकिन फिफ्टी फिफ्टी, आप न्यूज़ चैनल्स वालो के दिल में आलोचना के लिए समानता पैदा करवा दे, हम भी आलोचना करने लगेंगे, क्या कभी हमने आपकी शिक्षा आपके रहन सहन आपके खाने पीने आपके पहनावे आपकी देशभक्ति पर सवाल उठाए? हम तो अपनी सफाई देते है, सफाई देना जुर्म नही है जबकि आप जज नही है हमारी तरह आप भी नागरिक है
आप विक्टिम कार्ड खेलते है
ये वैसे ही बातें है जब स्त्री आवाज़ उठाये तो कहो, रंडी रोना बंद करो, कहने का अर्थ ये है कि जब कोई बोले तो ऐसी बात करो और अगर बोले न तो कहो कि सफाई क्यो नही देते,
आप गलत को सामने क्यो नही लाते
ऐसा सच सामने लाये 2500 कोरोना पॉज़िटिव केस में 350 मुस्लिम पॉज़िटिव है बाकी इंसान पॉज़िटिव है,
जमाती गलत है
बिल्कुल गलत है, उन्हें कड़ी से कड़ी सज़ा दी जाए लेकिन उनकी आड़ लेकर सभी मुस्लिमो से कैसे नफरत कर सकते हो, मैं लॉकडाउन के बाद धर्म के नाम पर इकट्ठा हुई भीड़ के पचासों वीडियो दे सकता हूँ क्यो ये वायरल नही हुए?? सच बताइये टीवी पर सबसे ज़्यादा आपने क्या देखा??
(फ़ायक़ इन मूड)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here